घर में सो रही नाबालिक लड़की के साथ बलात्कार

0
175
प्रतीकात्मक

पुरवा (उन्नाव) – घर में सो रही नाबालिग बालिका को गांव के दबंग ने कमरा खुलवाकर चाकू की नोंक पर जबरन बलात्कार किया| इससे भी जी नहीं भरा तो किशोरी को बहला फुसलाकर अपने साथ ले गया| जब मामला कोतवाली पहुंचा तो कोतवाली पुलिस ने टरकाऊ मिच्चर देकर चलता कर दिया| जब पीड़ित पक्ष जिला मुख्यालय कप्तान की चैखट पर पहुंचा तो वहां पुलिस अधीक्षक के आदेश पर कोतवाली पुलिस ने जबरन दुष्कर्म करनें व बहला फुसलाकर भगा ले जाने का अभियोग लिखा।

प्राप्त विवरण के अनुसार मामला कोतवाली क्षेत्र के गांव सेरइयां निकट मिर्रीकला का है, जहां पीड़ित(अमरपाल पुत्र शिवगनेश दोनो ही परिवर्तित नाम) ने अपने दिये गये शिकायती पत्र के अनुसार बताया कि घटना दिनांक 26 फरवरी 17 की रात की है, मैं अपने घर पर सो रहा था। पत्नी भी पास में ही थी तथा मेरी माता जी जिन्हे कम सुनाई पड़ता है और पिता जी जो काफी वृद्ध हैं बाहर लेटे थे तथा मेरी नाबालिग पुत्री बदला हुआ नाम कु0 सोनी उम्र 16 वर्ष कमरे में सो रही थी। इसी बीच अनुज कुमार उर्फ गोलू नाई पुत्र राम सेवक निवासी ग्राम सेरइयां थाना कोतवाली पुरवा आया और जिस कमरे में मेरी पुत्री सो रही थी। उसका दरवाजा खटखटाया मेरी पुत्री कु0 सोनी ने जैसे ही दरवाजा खोला तो गोलू नाई ने पुत्री के गले मे चाकू रखकर कहा चुप रहो और मेरे साथ चलो तथा पुत्री के मुंह मे कपड़ा ठूस दिया और धमकाते हुए कहा कि किसी को बताओगी तो तुम्हारे साथ में सो रही तुम्हारी बहन को काटकर उसके दो टुकड़े कर देंगे।

पीड़ित के अनुसार मेरी पुत्री डरकर गोलू के साथ चली गयी। उसके बाद पहले मुझे बाग में ले गया और जबरदस्ती उसके साथ दुष्कर्म किया और बहला फुसलाकर अपने साथ ले गया और दुष्कर्म करता रहा और पुत्री को अपने साथ कुसुम्भी थाना अजगैन लेकर गया, जहां पर पुत्री के अनुसार पिंकी नाम की लड़की मिली। जिसको मेरी पुत्री जानती थी पुत्री ने उसको सारी बात बताई| तभी वहां से किसी ने हमारे परिवारी कुलदीप को सूचना दी कुलदीप ने सारी बात मुझसे बताई| तभी मैं और कुलदीप कुसुम्भी पहुंचा जहां हम लोगो को देखते ही गोलू भाग गया तथा पुत्री ने पूरी बात बताई| तब जाकर कोतवाली में सूचना दिया किन्तु थाने से कोई सुनवाई नहीं हुई| जहां पीड़ित के शिकायती पत्र पर पुलिस अधीक्षक ने अभियोग पंजीकृत करने का आदेश दिया जहां कोतवाली पुलिस ने जबरन दुष्कर्म करने तथा जान से मार डालने का अभियोग पंजीकृत कर पीड़िता को डाॅक्टरी परिक्षण हेतु महिला डॉ. संगीता यादव की अभिरक्षा में जिला अस्पताल के लिये भेजा है| वहीं ग्रामीणो में चर्चा है कि मामला प्रेमप्रसंग का है।

रिपोर्ट- मो. अहमद

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here