जुलाई से सरकारी राशन की दुकानों पर अंगूठा लगाने पर ही मिलेगा राशन

0
111


शुक्लागंज/उन्नाव (ब्यूरो) गरीबों को सस्ते दर पर मिलने वाले अनाज का वितरण अब ईपीओएस यानी इलेक्ट्रानिक प्वाइंट आफ मशीन बायोमैट्रिकद्ध के जरिये किया जायेगा। इस व्यवस्था में जनवितरण में व्याप्त अनियमितता व भ्रष्टाचार का खात्मा भी हो सकेगा। इस व्यवस्था में विभाग द्वारा जो मशीन उपलब्ध करायी गयी जायेगी। वह मशीन लाभुक द्वारा आधार कार्ड व बैंक खाता का नंबर दिया होगा। उसी लाभुक को खाधान्न का लाभ मिलेगा। यह सुविधा का लाभ फिलहाल 1 जुलाई से नगर के लोगो को मिलेगा। सस्ते दर पर अनाज का लाभ ले रहे वैसे लाभ्यार्थी जिन्होने अभी तक अपना आधार कार्ड व बैंक खाता जमा नही किया गया है। उन कार्ड धाराकों को जुलाई ंव अगस्त माह में औपचाकि रुप से राशन दे दिया जायेगा। लेकिन उसके बाद से राशन नही दिया जायेगा। विभागीय सूत्रांे से मिली जानकारी के अनुसार केन्द्र सरकार स्पष्ट निर्देश है कि सभी कार्ड धारको को जून ंतक आधार कार्ड व बैंक खाता से जोड़ देना है। अन्यथा वैसे कार्डधारक खाधान्न के लाभ से वंचित रहे जायेंगे। बता दे कि नगर पालिका गंगाघाट क्षेत्र में बुधवार को डीएसओं जीवेश मौर्य व पूर्ति निरीक्षक रविप्रकाश शर्मा ने नगर में कुल 36 कोटेदारो के साथ बैठक की। जिसमें उन्होने कुछ कोटेदारों को पूर्व में ईपीओएस मशीन दे चुके थे और उन मशीनों को चलाने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जा चुका था शेष बची मशीनें जिन कोटेदारों को नही मिली थी उनको बुधवार को मशीनें देने के साथ ही प्रशिक्षण भी दिया गया। इस दौरान उन्होने बताया कि यह सुविधा आगामी 1 जुलाई से शुरु हो जायेगी। जिसके बाद राशन कार्ड धारको को राशन वितरण किया जायेगा।

भ्रष्टाचारी से लगेगी लगाम
ईपीओएस मशीन एक व्यवस्था हैे जो कि जनवितरण में व्याप्त अनियमितता व कालाबाजारी की प्रथा पर अंकुश लगाने में पूरी तरह सक्षम होगी। फिंगर प्रिंट आधारित इस मशीन में लाभार्थियों द्वारा अंगूठा लगाने पर ही राशन का लाभ मिलेगा। वहीं कार्ड धारक द्वारा राशन का उठाव करते ही उसकी आनलाइन रिर्पोट विभाग को प्राप्त हो जायेगी। वहीं अगूठा का मैचिंग नही होने पर राशन ंके लाभ वंचित भी होना पड़ सकता है।

इंटरनेट के जरिए काम करेगी मशीन
फिंगर प्रिन्ट आधारित यह मशीन इंटरनेट के जरिए काम करेगी। ईपीओएस मशीन में राशन कार्ड धारको मशीन में अंगूठा लगाने व राशन कार्ड का नम्बर अंकित करने पर परिवार के सभी सदस्यांे का सारा डाटा प्वाइट के आफ सेल में दिखाने लगेगा। जिसके बाद कार्ड धारक को कोटेदार राशन प्राप्त करा देगा।

जून के अंत तक करना है आधार सिंडिग
जन वितरण प्रणाली के उपभोक्तओं को राशन ंके लिए अब परिवार के सभी सदस्यों का आधार कार्ड होना अनिवार्य है। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार नगर में 11 हजार से अधिक राशन कार्ड धारक जारी किये है। जिसमें से अब तक करीब 70 प्रतिशत लोगो के आधार कार्ड को आनलाइन से जोड़ा जा चुका है। उसमे से बचे आधार कार्डो को विभाग ने जून ंके अंत तक जोडने के निर्देश दे दिए है।

जुलाई से राशन, केरोसिन नही मिलेगा
विभाग ने सभी लाभुको को अपना आधार कार्ड यथा शीघ्र अपने जनवितरण विक्रेता के पास जमा करने का निर्देश दिया है। यदि कोई भी राशन कार्ड धारक ने अपना आधार कार्ड को जमा न किया तो उसको इस सुविधा से वंचित किया जा सकता है। वहीं औपचारिक रुप से विभाग ने दो माह की छूट भी दी है कि वह अपना आधार कार्ड कोटेदार या नगर पालिका में जमा करा दे।

परिवार का कोई भी सदस्य प्राप्त कर सकेगा राशन
आगामी 1 जुलाई से ईपीओएस यानी इलेक्ट्रानिक प्वाइंट आफ मशीन ;बायोमैट्रिकद्ध के जरिये किया जाने वाला सरकारी राशन को कार्ड धारक के परिवार का कोई भी सदस्य प्राप्त कर सकेगा। लेकिन उसमें भी एक शर्त यह कि जिस कार्ड से परिवार का सदस्य राशन लेने सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान पर जायेगा उस कार्ड मंे उसका नाम व आधार कार्ड लिंक होना जरुरी होगा। वही सदस्य इस सुविधा का लाभ उठा सकेगा।

रिपोर्ट – शैलेन्द्र द्विवेदी/विशाल मौर्य

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY