उछाल भरते पारे के बीच पश्चिमी विक्षोभ ने उम्मीद जगाई

0
125

uttarakhand
देहरादून : उत्तराखंड में उछाल भरते पारे के बीच पश्चिमी विक्षोभ ने उम्मीद जगाई है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों में सूबे में खासकर उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर व पिथौरागढ़ जनपदों में बहुत हल्की से हल्की वर्षा और 4000 फुट से अधिक ऊंचाई पर बर्फ गिरने की संभावना है।

राज्यभर में अधिकतम तापमान में पांच से आठ डिग्री सेल्सियस का इजाफा हुआ है। देहरादून समेत सूबे के अनेक क्षेत्रों में भले ही बादलों की मौजूदगी बनी रही, लेकिन इस दरम्यान पारे ने भी खासी उछाल भरी। अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि पंतनगर और देहरादून में तो अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस को भी पार कर गया।

देहरादून रहा सबसे अधिक गरम जबकि मुक्तेश्वर में यह सामान्य से आठ डिग्री की उछाल के करीब 21 डिग्री के आसपास रहा। ऐसे में पहाड़ से लेकर मैदान तक सभी जगह हल्की गर्माहट महसूस की गई।

वातावरण में आई गर्माहट का ही नतीजा है कि बदरीनाथ में बर्फ पिघलने लगी है। बदरीनाथ धाम में तीन हफ्ते पहले आठ फुट से अधिक बर्फ जमी थी। यह तेजी से पिघल रही है। सिंहद्वार के पास तो बर्फ पूरी तरह पिघल चुकी है।

हालांकि, आसमान में बादल बने हुए हैं और मौसम विभाग ने इनके बरसने की संभावना जताई है। मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के निदेशक विक्रम सिंह के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के प्रवेश करने पर इससे पहले तापमान में बढ़ोत्तरी होती है।

इस मर्तबा भी ऐसा ही हुआ है। पश्चिमी विक्षोभ का असर अगले 24 घंटों में नजर आएगा। इसके चलते राज्यभर में आंशिक से लेकर आमतौर पर बादल छाये रहेंगे। पर्वतीय जनपदों में हल्की से हल्की वर्षा और बर्फबारी की संभावना है। 20 फरवरी को भी यह क्रम बना रह सकता है। इसके बाद 21 फरवरी से तापमान में कमी आने लगेगी और 24 फरवरी तक ये सामान्य के करीब आ जाएंगे।

रिपोर्ट – मोहम्मद शादाब

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY