यू.पी. में पुलिस की गुंडागर्दी बरक़रार, खामोश हैं सरकार – थाने में महिला को जिन्दा जलाया

0
609
सलामी लेते हुए सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और साथ में यू. पी. के पुलिस अधिकारी photo credit -(http://prpb.gov.in)
सलामी लेते हुए सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और साथ में यू. पी. के पुलिस अधिकारी photo credit -(http://prpb.gov.in)

उत्तरप्रदेश के बाराबंकी जिले के कोठी थाने के एस.ओ. और एस. आई. के ऊपर एक महिला के साथ कथित तौर पर पहले थाने के अन्दर रेप के प्रयास का और विरोध करने पर उसके ऊपर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा देने का आरोप हैं I
कोठी थाने के अंतर्गत एक गाँव की महिला के साथ यह सब तब किया गया जब पुलिस ने उसके पति को बिना किसी अपराध के ही थाने में लाकर बंद कर दिया था I जब महिला अपने पति को छुडाने के लिए पहुंची तो पुलिस के लोगों ने उसके साथ पहले रेप और फिर महिला द्वारा विरोध किये जाने पर उसके पेट्रोल छिड़कर कर आग लगा दिया गया I जिसके बाद महिला को 90 फीसदी जली हालत में को सोमवार को लखनऊ के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था जहाँ मंगलवार तड़के महिला ने अपनी अंतिम साँसे ली।
आपको बता दें कि बाराबंकी के कोठी थाना प्रभारी राय साहब यादव और एसआई अखिलेश राय के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दोनों को निलंबित कर दिया गया है। और इस घटना के बाद महिला के पति को भी थाने से छोड़ दिया गया, जिसे रिहा कराने वह थाने गई थीं।

क्या हैं पूरा मामला –

सूत्रों के माध्यम से प्राप्त खबर के अनुसार सोमवार सुबह तक़रीबन 11-12 बजे के आस-पास कोठी थाने के सिपाही हीरा यादव और पंकज दुबे दो लोग रामनारायण द्विवेदी की पत्नी श्री मती नीतू द्विवेदी को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे जो कि लगभग 90 फीसदी तक जली हुई थी I आपको बता दें कि जहाँ नीतू दुबे ने अत्यधिक जल जाने के कारण आज सुबह तकरीबन 3-4 बजे के आस-पास दम तोड़ दिया I
अपनी अंतिम सांसे लेते हुए उन्होंने पुलिस और डाक्टरों के सामने बयान दिया कि कोठी थाने के एसओ. रायसाहब यादव और एस.आई. अखिलेश राय बिना किसी अपराध के ही उनके पति को उठा लाये थे और जब वह उन्हें छुडाने के लिए थाने पहुंची थी दोनों ने उनसे पहले उनके पति को छोड़ने के लिए 1 लाख नगद रूपये की मांग की जब उन्होंने इसमें असमर्थता जताई तो उन्होंने उसकी हाथ की अंगूठी छीन ली और उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास करने लगे I
और जब महिला ने शोर मचाना शुरू किया, विरोध किया तो गुस्से में आकर महिला के ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगा दी I आग लगने के बाद तड़पते हुए महिला से सबसे पहले दरवाजें की तरफ भागी जहाँ पर खड़े अन्य लोगों ने और पुलिस वालों ने महिला की आग बुझाई और फिर तुरंत ही सिपाही हीरा यादव और पंकज द्विवेदी महिला को लेकर अस्पताल पहुंचे I जहाँ आज सुबह महिला ने अज दम तोड़ दिया I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

4 × 1 =