सुलह समझौते के जरिये वाद निस्तारण के लिए जागरूकता कार्यक्रम का हुआ आयोजन

0
134
प्रतीकात्मक फोटो

सुल्तानपुर(ब्यूरो)-उच्च न्यायालय एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशन में मुकदमा गुण-दोष के आधार पर निस्तारित होने के पूर्व ही समझा-बुझाकर सुलह के आधार पर निस्तारित किए जाने को लेकर जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसके मद्देनजर प्रचार वाहन व प्रचार सामग्री के माध्यम से लोगों को जागरुक किया गया।

शनिवार को दीवानी न्यायालय स्थित समझौता मध्यस्ता केंद्र से जुड़े वादों को निस्तारित करने के लिए जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए अधिक से अधिक लोगों को इससे लाभान्वित करने की मंशा से प्रचार वाहन व प्रकाशित ज्ञानमालाओं को वितरित कर लोगों को जागरुक किया गया। इस दौरान हाईकोर्ट के निर्देशन में मध्यस्थता के लिए चयनित प्रशिक्षक संदीप सक्सेना एवं मृदुला त्रिपाठी ने न्यायिक अधिकारियों, मध्यस्थ एवं वादकारियों को प्रशिक्षण देकर वाद निस्तारित करने एवं अधिक से अधिक वादकारियों को लाभान्वित करने की अपेक्षा जाहिर की।

इस दौरान कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जनपद न्यायाधीश नरेश कुमार बहल ने भी अपने संबोधन में सभी को जागरूक किया। इस मौके पर विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव व सिविल जज विजय कुमार द्वितीय ने प्रशिक्षकों एवं सभी न्यायिक अधिकारियों के प्रति आभार प्रकट किया। इस दौरान अपर जिला जज श्यामजीत यादव, नासिर अहमद, विनय कुमार सिंह, राहुल पाण्डेय, अजय दीक्षित, जमाल मसूद अब्बासी, अनिल यादव, प्रमोद यादव, अभय कृष्ण तिवारी, सीजेएम विजय कुमार आजाद, न्यायिक अधिकारी अनिल कुमार सेठ, प्रभानाथ त्रिपाठी, सपना शुक्ला, मनीष निगम व कई अधिवक्ता एवं वादकारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट- संतोष कुमार यादव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here