398 श्रमिकों का किया गया पंजीकरण तथा 574 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण

0
140

बहराइच (ब्यूरो) जनपद के विकास खण्ड मिहींपुरवा अन्तर्गत जिला मुख्यालय से लगभग 88 किमी दूर वनक्षेत्र की ग्राम पंचायत बुझिया के मण्डी परिसर में ‘सरकार श्रमिक के द्वार’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान 398 श्रमिकों का पंजीकरण भी किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी अजय दीप सिंह के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा पंडित दीन दयाल उपाध्याय स्वास्थ्य सेतु कैम्प का आयोजन किया गया। स्वास्थ्य कैम्प के दौरान 574 लोगों की स्वास्थ्य की जांच व निःशुल्क दवा का वितरण किया गया। कैम्प मंे नेत्र विशेषज्ञ डा. संजीव कुमार, अस्थि रोग विशेषज्ञ डा. हन्नान, डा. मिनाक्षी, बाल रोग विशेषज्ञ डा. आरपी वर्मा तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मोतीपुर के अधीक्षक डा. आरएन वर्मा द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण एवं उपचार किया गया। 

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी अजय दीप सिंह ने कहा कि आज के इस कार्यक्रम के दौरान 398 श्रमिकों का पंजिकरण किया गया है। इसी प्रकार जनपद में चिन्हित अन्य श्रमिक अड्डों पर भी कैम्प आयोजित कर श्रमिकों का पंजिकरण किया जायेगा। उन्हांेने कहा कि सरकार द्वारा श्रमिकों के हित के लिए जन्म से मृत्यु तक अनेंकों महत्वपूर्ण योजनाएं संचालित की जा रही हैं। श्रमिक बन्धु अपना पंजीकरण कराकर इन योजनाओं का लाभ प्राप्त करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का जनपद के दूरदराज क्षेत्रों में व्यापक प्रचार प्रसार किया जाय ताकि अधिक से अधिक श्रमिक बन्धु इन योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकें। उन्हांेने कहा कि सामाजिक संस्था सद्भावना द्वारा सराहनीय प्रयास किया जा रहा है जो बधाई के पात्र हैं। 

जिलाधिकारी श्री सिंह ने सरकार का लक्ष्य है कि 2018 तक सभी घरों में शौचालयों का निर्माण कराकर देश व प्रदेश को खुले में शौच मुक्त किया जाय। उन्होंने बताया कि इस वर्ष जनपद को 59000 शौचालय बनाने का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। सरकार द्वारा 2022 तक सभी आवासहीनों को आवास मुहैया कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। आवास की धनराशि सीधे लाभार्थियों के खातों में प्रेषित की जा रही है। आप इसका सदुपयोग कर अपने आवासों का समय से निस्तारण करायंे। प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के एक लाख रूपये तक के फसली ऋण को माफ किया गया है। किसान भाई अपना पंजीकरण कराकर ऋण माफी योजना का लाभ उठायें। उन्हंोने ग्रामवासियों से आग्रह किया पर्यावरण संतुलन के लिए अधिक से अधिक वृक्ष लगायें और अपने बच्चों को स्कूल अवश्य भेंजे। आप की ग्राम पंचायत के राशन कार्ड का सत्यापन कार्य पूर्ण कर लिया गया है, जिसमें सत्यापन के दौरान 100 राशन कार्ड अपात्र पाये गयें हैं जिसके निरस्तीकरण की कार्यवाही की जा रही है। ग्राम पंचायत की विद्यालय मंे शीघ्र ही गैस की व्यवस्था की जायेगी। 

मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार ने कहा कि जिलाधिकारी की सोच है कि जनपद को स्वच्छ, स्वस्थ्य और हरा भरा बनाया जाय। इसी कड़ी मंे प्रत्येक शनिवार को सौ ग्राम पंचायतों का चयन कर सफाई अभियान संचालित किया जा रहा है। साथ हीं 31 जुलाई तक वृक्षारोपण अभियान के तहत अधिक से अधिक पौध रोपण कराने के प्रयास भी किये जा रहे हैं। जिले के दूर दराज क्षेत्रों में रहने वाली जनता को स्वास्थ्य सेवाओं की सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। उन्हांेने बताया कि सरकार द्वारा अनेकों कल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही हैं। जिसका आप लोग अधिक से अधिक लाभ उठायें। महिला सशक्तिरण के लिए एनआरएलएम के अन्तर्गत समूहों का गठन कर महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत किया जा रहा है। साथ ही मनरेगा योजना अन्तर्गत ग्रामिण क्षेत्रों के लोंगो को उनके गांव में हीं रोजगार मोहैया कराया जा रहा है। आप लोग पंजीकरण कराकर सरकारी योजनाओं का लाभ उठायें। 

कार्यक्रम के दौरान जिला पंचायत राज अधिकारी राजेन्द्र प्रकाश ने स्वच्छता, प्रभागीय वनाधिकारी कतर्नियाघाट जीपी सिंह ने वृक्षारोपण, बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. अमरकान्त सिंह ने शिक्षा के महत्व, जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बच्चों के स्वास्थ्य, जिला पूर्ति अधिकारी ने खाद्यान्न वितरण एवं राशन कार्ड सत्यापन, उप निदेशक कृषि डा. आरके सिंह ने कृषि विभाग की योजना, समाज कल्याण अधिकारी डीके सिंह ने पेंशन योजना तथा युवा कल्याण अधिकारी बलवीर सिंह ने प्रान्तीय रक्षक दल, युवा एवं महिला मंगल दल आदि के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की। जबकि सामाजिक संस्था सद्भावना के योगेन्द्र मणि त्रिपाठी द्वारा स्वागत करते हुए श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन खण्ड विकास अधिकारी मिहींपुरवा चन्द्रशेखर ने किया। कार्यक्रम के उपरान्त जिलाधिकारी ने अन्य अधिकारियों के साथ ग्राम में समाज कल्याण विभाग द्वारा निर्माण कराये गये एकलव्य माॅडल आश्रम पद्धति विद्यालय का निरीक्षण भी किया।

इससे पूर्व जिलाधिकारी ने ग्राम का भ्रमण कर साफ-सफाई का जायजा लिया तथा ग्राम के विद्यालय परिसर में वृक्षारोपण भी किया। कार्यक्रम के दौरान जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों को श्रमिकों की पहचान फावडा प्रदान किया गया तथा जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों को शाल भंेट कर सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम के अन्त में भ्रुण हत्या, बच्चों को मजदूरी न कराने, बच्चों को स्कूल भेजने तथा ग्राम में साफ-सफाई के लिए संकल्प दिलाया गया। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी मोतीपुर कुंवर वीरेन्द्र मौर्य, पुलिस क्षेत्राधिकारी सुरेन्द्र कुमार यादव, जिला विकास अधिकारी वीरेन्द्र सिंह, पीडी डीआरडीए अभिमन्यु सिंह, डीसी एनआरएलएम राजेश जायसवाल, अधि.अभि. जलनिगम आरबी राम सहित अन्य अधिकारी, ग्राम प्रधान शिवसागर, समाजसेवी जंग हिन्दुस्तानी, प्रगतिशील किसान शिवशंकर सिंह, स्थानीय गणमान्यजन व भारी संख्या में पुरूष व महिलाएं मौजूद रहीं। 

   
रिपोर्ट – राकेश मौर्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here