शिक्षक पर अमर्यादित टिप्पणी स्वार्थ से प्रेरित

0
316

पटना ब्यूरो : वर्तमान मे जहॉ शिक्षा को गति को विभिन्न शिक्षक संगठनो द्वारा अवरुद्ध कर दिया गया है वही मैट्रिक व इन्टर की कॉपीयों का मूल्यांकन भी शिक्षकों की हठधर्मिता के कारण निर्धारित समय पर पूरा होने मे पूर्णतः संसय बना हुआ है | छात्र हित की बात करने वाला संगठन बिहार प्रदेश माध्यमिक शिक्षक शिक्षकेत्तर कर्मचारी महासंघ के प्रांतीय संयोजक राज किशोर प्रसाद साधु पर हड़ताली विभिन्न संगठनो के नेताओ के द्वारा अमर्य़ादित टिप्पणियां की जा रही हैं, जो एक सोची समझी राजनीती कही जा सकती है | महासंघ के प्रांतीय संयोजक राज किशोर प्रसाद साधु ने 22 मार्च को प्रेस रिलिज में बताया कि हमारी लड़ाई अपने मांगो के लिए सरकार से है न कि छात्र व अभिभावक से, फिर भी अवसरवादी नेता वित्त रहित माध्यमिक शिक्षकों के द्वारा कॉपी मूल्यांकन में शरीक होने के फैसला पर विभिन्न प्रकार की आलोचना कर रहे हैं ।

आपने बित अनुदानित माध्यमिक शिक्षको कि सुधि लेने के लिए राजकिशोर प्रसाद साधु से बाते करने की आवश्यकता समझी ? तो फिर अफसोस व दोष क्यों ? शिक्षक नेता पर किया गया कटाक्ष अशोभनीय और निंदनीय है | साधु जी वित्त रहित अनुदानित शिक्षक केलिए तत्पर रहे हैं, वर्षों से अनुदान की आश मे बैठे शिक्षकों के लिए प्रधान सचिव को साधू जी ने पत्र लिखा । जिसके अलोक में प्रधान सचिव ने अपने पत्र पत्रांक४८९ दिनांक ०२/०३/१७ में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष को अविलंब अनुदान भुगतान करने का निर्देश दिया ।

लोग अपनी पद्लोलिप्ता के कारण शिक्षक नेता साधू जी को कोस रहे हैं ।आप अपने अधिकारों और मांग को लेकर लड़ो लेकिन दूसरो पर छीटाकसी अशोभनीय है। छात्र हमारे देश के भविष्य हैं। हमारी लड़ाई कदापि छात्र और अभिभावक से नहीं हैं। एक सम्माननीय शिक्षक हो कर शिक्षक पर छीटाकशी करना क्या उचित है? महासघ ने समय व परिस्थिति को देखकर फॆसला लिया है।

उक्त बाते महासंघ के प्रान्तीय मीडिया प्रभारी सह प्रवक्ता आशुतोष कुमार सिह ने पुनाई चक अपने कायार्लय पर बताया।
बता दे कि बिहार प्रदेश माध्यमिक शिक्षक शिक्षकेतत र कर्मचारी महासघ ने छात्र हित को मूल्यांकन का फॆसला लिया है। कुछ शिक्षक योगदान भी किये हैं ,आर कुछ को योगदान से रोक दिया गया है। महासघ के प्रान्तीय सयोजक ने अपने शिक्षको को सुरक्षा कि गुहार सरकार से लगाई है। तभी वित्त अनुदानित शिक्षक कापी का मूल्यान्कन करेंगे

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here