जिलाधिकारी ने की बाढ़ तैयारी की समीक्षा

0
68

बहराइच (ब्यूरो) जिलाधिकारी अजय दीप सिंह ने कलेक्ट्रेट सभागार में बाढ़ तैयारी की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के जिन युवाओं को बचाव एवं राहत कार्य के लिए प्रशिक्षण प्रदान किया गया है उन्हें आई कार्ड भी निर्गत कर दिया जाय। उच्च अधिकारियों द्वारा बाढ़ क्षेत्रों के भ्रमण के दौरान जो निर्देश दिये जायं उसको नोट किया जाय और निर्देश का अनुपालन भी सुनिश्चित कराया जाय। बाढ़ चैकियों पर डाक्टर, पशु चिकित्सक व अन्य सम्बन्धित कर्मचारियों उपस्थिति सुनिश्चित करायी जाय और बाढ़ चैकियों पर तैनात अधिकारियों एवं कर्मचारियों का लिखवाया जाय। इसके साथ ही लोंगो को जानकारी के लिए बाढ़ चैकियों पर बड़ा सा बैनर भी लगवाया जाय।

उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि बाढ़ चैकियों पर स्वच्छ पेयजल, शौचालय आदि का समुचित प्रबन्ध किया जाय। सभी सम्बन्धित उप जिलाधिकारी अपने तहसीलों के बाढ़ चैकियों का सघन भ्रमण कर बाढ़ चैकियों पर चाक चैबन्द व्यवस्था करायें। बाढ़ क्षेत्र में लगायी गयी नावों की नम्बरिंग करा दें ताकि पता चल सके कि नाव किस बाढ़ चैकी से सम्बन्धित है। नावों पर नाविकों का मो.न. भी लिखाया जाय। गोताखोरों का सत्यापन कर उसका डाटा बेस तैयार किया जाय तथा महसी क्षेत्र के बलभद्र सिंह कालेज में गोताखोंरों को प्रशिक्षण भी प्रदान करा दिया जाय।
 

जिलाधिकारी श्री सिंह द्वारा निर्देश दिया गया कि जिला पंचायत राज अधिकारी बाढ़ चैकियों पर शौचालय की व्यवस्था सुनिश्चित करायें तथा अधि. अभि. जल निगम बाढ़ चैकियों के हैण्डपम्पों को ठीक करा दें। मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया गया कि बाढ़ क्षेत्रों में सचल मेडिकल दल की तैनाती सुनिश्चित कराने के साथ-साथ बाढ़ क्षेत्र में एम्बुलेन्स की भी व्यवस्था करायें। तहसील प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग मिलकर बाढ़ क्षेत्र के गर्भवती महिलाओ, दिव्यांगों व बुजुर्गों आदि की सूची भी तैयार करा लें। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया गया कि पशुओं को ठहराने के लिए ऊचें स्थानों का चिन्हित कर लें ताकि बाढ़ के दौरान पशुओं को ठहराया जा सके। इसके अलावा चारे की भी व्यवस्था सुनिश्चित करायें। जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिया गया कि बाढ़ क्षेत्र के लोंगो को 2 लीटर मिट्टी का तेल अलग से उपलब्ध करायें इसके साथ खाद्यान्न का वितरण भी करायें।

अधि. अभि. लोक निर्माण को निर्देश दिया गया कि बाढ़ क्षेत्र क्षतिग्रस्त सड़कों का तत्काल मरम्मत करा दें। बाढ़ खण्ड के अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि तटबन्धों व स्परों की शतत् निगरानी करें और रेनकटों की तत्काल मरम्मत करा दें। उन्होंने कहा कि एनडीआरएफ टीम से बराबर समन्वय बनायें रखें और बाढ़ से सम्बन्धि सूचनाएं भी अपडेट करते रहें। पुलिस विभाग डायल 100 की वाहन को भी बाढ़ क्षेत्र में लगा दें जिससे आवश्यकता पड़ने पर सहयोग लिया जा सके। 

बैठक के दौरान एनडीआरएफ की टीम कमान्डर संजीव कुमार ने सुझाव दिया कि बाढ़ से सम्बन्धित अधिकारियों के मो. नम्बरों का वाट्सएप ग्रुप बनाया जाय बाढ़ से सम्बन्धित विभागों द्वारा बाढ़ के दौरान बचाव एवं राहत कार्यों की जानकारी प्राप्त होती रहेगी और बाढ से सम्बन्धित सुचनाओं के आदान प्रदान में सुविधा होगी। उन्होंने अपने मो.न. 8004931431 की जानकारी देते हुए बताया कि बाढ़ से सम्बन्धित सूचना हमारे मो.न. पर उपलब्ध करा सकते हैं। 

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी संतोष कुमार राय, अपर पुलिस अधीक्षक रवीन्द्र कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी कैसरगंज पंकज कुमार, नानपारा एसपी शुक्ला, मिहींपुरवा (मोतीपुर) कुंवर वीरेन्द्र मौर्य, महसी नागेन्द्र कुमार, सीवीओ डा. बलवन्त सिंह, डीपीआरओ राजेन्द्र प्रकाश, बाढ खण्ड के अधिकारी व अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट – राकेश मौर्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here