लूट के आरोपियों को नहीं मिली राहत, पुनरीक्षण याचिका खारिज

0
76

भदोही(ब्यूरो)- जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत ने वर्ष २०१३ में ज्ञानपुर थाना क्षेत्र के उधवा माफी गांव के समीप लबे रोड पर हुए लुट व मारपीट के मामले में अवर न्यायालय के तलबी आदेश के विरूद्घ दायर पुनरीक्षण याचिका को खारिज किये जाने का आदेश सुनाते हुए दोनो पक्षो को अधिनस्थ न्यायालय के समक्ष उपस्थित होने का निर्देश दिया है।

गौरतलब हो कि ज्ञानपुर कोतवाली क्षेत्र के उधवा माफी गांव निवासी रमेशचन्द यादव ने अपने अधिवक्ता सत्येन्द्र प्रताप सिंह के माध्यम से इस आरोप के साथ मुकदमा न्यायालय के समक्ष दाखिल कर आरोप लगाया था कि ३ फरवरी २०१३ को गोबर गैस का ड्रम प्राप्त करने के लिए घर से निकला था। इसी दौरान रास्ते में आरोपी राजेन्द्र प्रसाद व मनीष दो अन्य अज्ञात व्यक्तियो के साथ रोककर अपशब्दो का प्रयोग करते हुए मारापीटा तथा प्रार्थी के जेब से १७ हजार रूपये जबरदस्ती छिन लिये और जान से मारने की धमकी दी।

इस घटना के बावत शिकायतकर्ता ने स्थानीय थाना समेत पुलिस अधीक्षक को घटना की सूचना दी। कार्रवाई न होने पर न्यायालय के समक्ष आपराधिक वाद दायर किया। घटना के समर्थन में गवाहो का बयान दर्ज कराया गया था। पत्रावली में उपलब्ध साक्ष्यो के आधार पर एसीजेएम द्वितीय की अदालत ने आरोपी भाईलाल ग्राम उधवामाफी राजेन्द्र प्रसाद पुत्र सत्यदेव मनीष कुमार पुत्र राजेन्द्र निवासी हरियांव को बतौर अभियुक्त आईपीसी की धारा ३२३, ५०४, ५०६ व ३९२ में तलब किये जाने का आदेश सुनाया था।

उक्त तलबी आदेश के विरूद्घ आरोपियों द्वारा सत्र अदालत में समक्ष पुनरीक्षण याचिका दायर कर प्रश्नगत तलबी आदेश को निरस्त किये जाने की गुहार लगायी गयी। दोनो पक्षो की दलीले सुनने के पश्चात उपरोक्त अदालत द्वारा पुनरीक्षण याचिका खारिज करते हुए अवर न्यायालय के तलबी आदेश को बरकरार रखा।

रिपोर्ट- रामकृष्ण पाण्ड़ेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here