रितिका प्रिंटेक इंटरप्राइजेज को नगर निगम ने 6 साल के लिए किया बैन

0
44

धनबाद(ब्यूरो)- नगर निगम की स्टैंडिंग कमिटी की बैठक में प्राइवेट कंपनी रितिका प्रिंटेक इंटरप्राइजेज को छह साल के लिए ब्लैकलिस्ट करने का निर्णय ले लिया गया है। निगम के राजस्व वसूली के कार्य में लगी रितिका पर काम को लेकर कई अनियमिताएं सामने आई जिसके बाद कमिटी ने कंपनी को बाहर का रास्ता दिखा दिया। कंपनी पर वर्ष 2014 में कॉमिशन के तौर पर 16 लाख रुपया ज्यादा ले लेने का आरोप है। निगम में कंपनी को रेभेंयु कलेक्शन की शर्त पर रखा गया था। जिसके एवज में कंपनी को कमीशन देना तय हुआ था।

कंपनी पर यह भी आरोप है कि शर्त से परे जाकर सर्विस टैक्स भी निगम से ही लेना चाह रही है। बैठक में टेलीकॉम कंपनियों को सड़क किनारे अंडर ग्रोउंड केबल बिछाने के लिए 66 रुपया प्रति मीटर शुल्क निगम को देने पर निर्णय हुआ।बाबुडीह में बनाये गए विवाह मंडप का किराया बैठक में तय कर दिया गया।आम जनता को एक दिन का किराया 35 हजार लगेगा। निगम के कर्मी, पार्षद, पूर्व पार्षद, उनके पुत्र पुत्री को 11 हजार की राशि किराए के रूप में देनी होगी। बैठक की अध्यक्षता मेयर चंद्र शेखर अग्रवाल ने की।

मौके पर अपर आयुक्त प्रदीप प्रसाद, उप नगर आयुक्त अनिल प्रसाद, कमिटी के सदस्य पार्षद प्रिय रंजन, शिव कुमार पासवान, अशोक पाल , निर्मल मुखर्जी आदि उपस्थित थे। स्टैंडिंग कमिटी की बैठक के पश्चात मेयर ने चेम्बर ऑफ़ कॉमर्स के सदस्यों के साथ अलग से बैठक कर उनकी समस्याओं को सुना गया साथ ही समस्या निदान पर जोर दिया गया।

बैठक में 50 माइक्रोन के पॉलीथिन को 1 जून से स्वतः बंद करने के निर्णय पर चर्चा की गई। चेम्बर के सदस्यों ने भी निगम के फैसले का स्वागत किया साथ ही सहयोग की भी हामी भरी।
मेयर ने कहा कि 1 जून से 50 माइक्रोन के पॉलीथिन के चलन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है अगर कोई भी दुकानदार 50 माइक्रोन से नीचे के पोलिथिन को इस्तेमाल में लाते पकड़ा गया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी दुकान तक सील कर दिया जायेगा।

रिपोर्ट-गणेश कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here