सडकों की हालत देखकर यह पता ही नहीं चलता है कि गड्ढे सडकों पर है यह गड्ढों पर सड़क है

0
96

चकलवंशी-उन्नाव (ब्यूरो)- उत्तर प्रदेश में 15 वर्षों से सङकों की हालत इतनी खराब हो गई हैं पता ही नहीं चलता है कि सङकों में गढ्ढे है कि गड्ढों में सङक है | उन पर चलना एक बड़ी घटना को दावत देने के बराबर है |

जबकि सङकों से वाहनों का आवागमन बना रहता है, कई घटनाएं होने के बाद भी संबंधित विभाग के अधिकारियों की नजर नहीं पङ रही है | सङकों से निकलने वाले क्षेत्रों के राहगीरों ने आरोप लगाया है कि संबंधित विभाग के अधिकारियों व ठेकेदारों की मिली भगत से सरकारी धन का बंदर-बांट किया गया है।
आपको बता दें कि विधानसभा सफीपुर क्षेत्र के अंतर्गत विकास खंड मियांगंज ग्राम पंचायत अरेरकला से लगलेसरा तक सङक बनी हुई है जिसकी लम्बाई लगभग डेढ़ किलोमीटर है | पंद्रह वर्ष पूर्व बनी सङक की मरम्मत नहीं की गयी | मरम्मत के नाम पर धन की उगाही की गयी है| जबकि सङकों की मरम्मत के नाम पर खुलेआम करोड़ों रुपये का खेल खेला गया है।

क्षेत्र में पनापुर, लगलेसरा, ताजपुर, सिर्स कन्या, मवई बृम्हनान, कूरेमऊ, मिर्जापुर कला आदि जैसे कई गांवों के ग्रामीणों का आवागमन रहता है | जिससे क्षेत्र के राहगीरों को आवागमन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है | सङकों से गुजरने वाले राहगीरों में राकेश गौङ, बबलू, छेदी लाल, योगेन्द्र, गगन, जीतू पंडित, हारून, सर्वेश, दीपक, रामकुमार, अनिल, राधेश्याम, मलखान आदि सैकड़ों लोगों ने जानकारी दी है कि लगलेसरा से बाबा के खेत तक लगभग पांच सौ मीटर सङक को बने हुए पंद्रह वर्ष हो गये उसके बाद भी मरम्मत नहीं करायी गयी है|

यह मामला संज्ञान में आया है कि सङकों के नाम पर सरकारें करोड़ों रुपये खर्च कर रही है उसके बाद भी सङकों का मरम्मतीकरण नहीं किया गया है | सङकों का मरम्मतीकरण सिर्फ कागजों पर कर दिया गया है | क्षेत्र के राहगीरों ने यह भी बताया है कि यहाँ से निकलने वाले कई राहगीर घायल भी हो चुके है | राहगीरों ने कहा है कि पूर्व में रही सरकार में बङा खेल हुआ है, जिसका आकलन नहीं किया जा सकता है | यूपी की पूर्ण बहुमत में बीजेपी सरकार बन गयी है, उसके बाद यह देखने को मिलेगा कि योगी सरकार इन अधिकारियों व ठेकेदारों पर कार्यवाही करती है कि नहीं यह तो आने वाला समय ही बतायेगा।

रिपोर्ट- जीतेन्द्र गौड़

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here