चौतरफा जाम से कराह उठी जनता

0
88

traffic-stuck
कानपुर नगर : चुनावी माहौल में जहां पुलिसकर्मी अन्य ड्यूटीयो में व्यस्त है वहीं शहर की यातायात व्यवस्था पूरी तहर से चरमरा गयी है। मौजूदा समय में शहर का कोई भी मुख्य चौराहा व सडक ऐसी नही जहां दिनभर वाहन सवार और जनता जाम से न जूझती हो। कुछ यातायात सिपाही चौराहो पर नजर भी आते है तो वह भी तमाशबीन बने खडे रहते है। चौराहो पर लगने वाले जाम से उन्हे कोई सरोकार नही होता व चौराहों के किनारे बैठ होमगार्ड के साथ वूसली में व्यस्त रहते है।

वैसे तो शहर मे चारो ओर जाम ही जाम है। लोगो को अपने गंतव्य में पहुंचने में परेशानी हो रही है तो वही ट्रैफिक पुलिस की बद इंतजामी और लापरवाही के कारण चौराहो और सडकों पर जाम लग रहा है। परेड, नई सडक, हालसी रोड, मेस्टन रोड, लाटूश रोड, बरकमण्डी, बडा चौराहा, जरीब चौकी, रावतपुर क्रासिंग आदि स्थानो पर समस्या विकराल रूप ले चुकी है। घण्टा घर चौराहे की सबसे अधिक दयनीय दशा है जहां खुलेआम पुलिस, थानेदार, टीआई वूसली मे लगे रहते है, जबकि जनता जाम में जूझती है। हर दिन सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक यहां ट्राफिक रेंगता नजर आता है। जाम की स्थिति दिन द दिन विकराल होती जा रही है। सडकों पर पहले निकलने की होड में झगडे होने लगे है। कई बार हाथा-पाई भी हो चुकी है। दूसरी हो यातायात सुगमता का दंभ भरने वाले अधिकारी कान में तेल डाले हुए है। उन्हे जनता की मुसीबत से कोई सरोकार नही है। जाम का मुख्य कारण भी पुलिस ही है। पुलिस ही पैसे लेकर सडकों पर अतिक्रमण करवाती है। ऐसे में सुगम यातायात की व्यवस्था कल्पना मात्र ही है।

रिपोर्ट – आशीष त्रिपाठी

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY