रोजगार के लिए ग्रामीणों ने वाशरी गेट किया जाम

0
44

धनबाद: रोजगार और ग्रामीणों के हक़ समेत 12 सूत्री मागो को लेकर आजसू के बैनर तले कार्यकर्ताओ ने शुक्रवार को एक दिवसीय चक्का जाम आंदोलन किया। आजसू कार्यकर्ता और ग्रामीणों ने झरिया डिवीजन स्थित टाटा द्वारा चलाए जा रहे ट्रांसपोर्टिंग को पूरी तरह से ठप कर दिया गया।

इस मौकें पर जोड़ापोखर थाना प्रभारी जय कृष्ण भारी सुरक्षा पुलिस बल के साथ तैनात थे। प्रदर्शन कर रहे लोगों के साथ पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए हटाने का प्रयास किया जिसका ग्रामीणों ने विरोध करते हुए टाटा प्रबंधन पर आरोप लगाया कि हमारे जमीन पर टाटा बसा है, प्रबंधन ने जमीन के बदले नौकरी देने का वादा किया था साथ ही बच्चों के स्कूल, स्वास्थ्य केंद्र, पानी, बिजली देने का भी वादा किया था लेकिन प्रबंधन द्वारा कुछ भी नहीं किया गया। इसके पहले पुर्नाडीह, शोखा कुल्ली पाटिया, डुमरी बस्ती के ग्रामीणों ने एक जुलुस निकालकर जामाडोबा वाशरी गेट पहुंचे और विरोध प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की।

रामप्रसाद सिंह ने बताया कि टाटा कंपनी ग्रामीणों का शोषण कर रही है। जिसे अब किसी भी कीमत पर बर्दास्त नहीं किया जायेगा। जिन लोगो ने अपनी जमीन देकर कंपनी को यहाँ स्थापित करवाया उनके बच्चों को आज के समय में कंपनी में रोजगार नहीं दिया जा रहा है| श्री सिंह ने बताया की कंपनी के खिलाफ प्रदर्शन करने वालो के खिलाफ प्रबंधन के द्वारा झूठा केस किया जा रहा है। कंपनी मे वाशरी का निर्माण कराया जा रहा है। जिसे बाहर के ठेकेदार और मजदूर चला रहे है और स्थानीय युवको को रोजगार से वंचित रखा जा रहा हैं।

वाशरी गेट पर ऐहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात किया गया था। जिससे कि वहां किसी तरह के विवाद होने पर तुरंत उसे रोक जाये। वही आजसू के केंद्रीय सदस्य वीरेंद्र निषाद ने टाटा प्रबंधन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर प्रबंधन हमारी मांगों पर जल्द विचार नहीं करेगी तो आगे भी उग्र आंदोलन किया जाएगा।

रिपोर्ट- गणेश कुमार 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY