रूस के सामने झुक गया अब तुर्की, माफ़ी मांगने को भी तैयार

0
324

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने शुक्रवार को कहा कि टर्की ने इस सप्ताह रूस का लड़ाकू विमान गिराकर सभी हदों को पार कर दिया है। उन्होंने चेतावनी दी कि यह घटना अंकारा के हितों को गंभीर रूप से कमतर कर सकती है।

लावरोव ने मास्को में सीरियाई समकक्ष वालिद मुआलेम से बातचीत की शुरुआत में कहा, ‘हमारा मानना है कि टर्की नेतृत्व ने स्वीकार्य हद को पार किया है। अंकारा ने क्षेत्र में उसके लंबी अवधि के राष्ट्रीय हितों और स्थिति के संबंध में टर्की को बहुत गंभीर स्थिति में डालने का जोखिम लिया है।’
टर्की सीरिया सीमा पर मंगलवार को सीरिया में हमले कर रहे एक रूसी जंगी विमान को मार गिराया गया था और इस घटना को राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने धोखा और पीठ में छुरा मारने वाला बताया था।

अंकारा की दलील है कि उसे यह एहसास नहीं था कि टर्की के हवाई क्षेत्र का उल्लंघन करने वाला विमान रूस का है। अंकारा ने दावा किया कि उसने पायलट को मार्ग बदलने के लिए कई बार चेतावनी जारी की थी।

टर्की के राष्ट्रपति रिसेप ताइप एर्दोगन ने शुक्रवार को मास्को के साथ तनाव कम करने का प्रयास करते हुए इस्लामिक स्टेट संगठन के खिलाफ एकता का आह्वान किया और कहा कि विमान को मार गिराना रूस के खिलाफ कदम नहीं है।

हालांकि क्रेमलिन सामंजस्य के मूड में नहीं है। पुतिन के प्रवक्ता दमित्री पेसकोव ने कहा कि पुतिन ने शुक्रवार को इस घटना के सिलसिले में अपने सुरक्षा परिषद से विशेषकर टर्की के कदम के बाद सीरिया को लेकर बढ़े तनाव पर चर्चा की।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

twenty + 14 =