टोल प्लाजा पर ज्यादा किराया लेने की बात उजागर करने के लिए आरटीआई आवेदक को पुरस्कृत किया गया |

0
841

Weston_Toll_Plaza

बेलगाम के श्री प्रशांत अशोक बुर्गे द्वारा मार्च, 2013 के दौरान, राष्‍ट्रीय राजमार्ग 4 के बेलगाम से महाराष्‍ट्र सीमा खंड पर स्‍थित हट्टारगी उपभोक्‍ता शुल्‍क प्‍लाजा से कार / जीप / वैन (एलएमवी) पर एक ओर से जाने और वापसी यात्रा के लिए उपयोगकर्ता से अधिक शुल्क दर वसूल करने के संबंध में एक आरटीआई दाखिल की गई थी। इस मामले की एनएचएआई ने जांच पड़ताल की थी। यह पाया गया कि उपभोक्‍ता शुल्‍क रुपए 20 और रुपए 40 की दर से वसूल किया जा रहा था जबकि यह राशि क्रमश: 15 रुपए और 35 रुपए होना चाहिए। एनएचएआई ने तुरंत ऐसी श्रेणी के वाहनों से अधिक उपभोगकर्ता शुल्‍क वसूली को रुकवाया। इसके अलावा टॉल एजेंसी मै. कोणार्क इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर लिमिटेड से 1.8 करोड़ रुपए की राशि का अधिक लिया गया शुल्‍क भी वसूला गया। सुधारात्‍मक कदमों के रूप में सभी टॉल बूथों पर यह प्रदर्शित करने वाले नॉटिस बोर्ड लगाए गए कि यात्री पहचान का सबूत और अधिक वसूले गए शुल्‍क का सबूत पेश करके वसूली गई 5 रुपए की अधिक शुल्‍क राशि को वापस ले सकते हैं।

एनएचएआई ने इस तथ्‍य की प्रशंसा की शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में अपने आरटीआई आवेदन के माध्‍यम से जनहित का बहुत ही प्रासंगिक और एक महत्वपूर्ण मुद्दा उठाया है, जिसका सार्वजनिक प्राधिकरण ने बहुत ही तेजी से निराकरण किया है। मामले के महत्‍व को ध्‍यान में रखते हुए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने एनएचएआई दिशा-निर्देशों के अनुपालन में श्री प्रशांत अशोक बुर्गे को 10,000 रुपए के नकद पुरस्‍कार देने के लिए अपनी मंजूरी दी है।

Source – PIB

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here