विधान परिषद सभापति की कुर्सी पर टकराव, राबड़ी बोलीं-बीजेपी के एमएलसी मंजूर नहीं

0
73

बिहार(राज्य ब्यूरो)- विधान परिषद की चार सीटों पर हुए चुनाव के परिणाम लगभग आ चुके हैं| चुनाव के नतीजे आने के साथ ही बिहार में एक बार फिर से सियासत शुरु हो गयी है| इस बार सियासत का मुद्दा है विधान परिषद के सभापति की कुर्सी! फिलहाल इस कुर्सी पर बीजेपी के अवधेश नारायण सिंह काबिज थे| जिनका इस बार भी चुनाव जीतना औपचारिकता मात्र ही रह गया है| अवधेश की जीत से उत्साहित एनडीए ने गठबंधन टूटने के बाद भी अवधेश नाराय़ण सिंह को सभापति बनाये रखने की संभावनाओं पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया है और आशा जतायी है कि सीएम आगे भी इसी तरह की परपंरा बनाये रखेंगे लेकिन इस बात पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कड़ी आपत्ति जाहिर की है|

राबड़ी देवी ने कहा है कि राजद के कोटे से किसी व्यक्ति को सभापति चुना जाना चाहिए| उन्होंने कहा है कि सभापति के पद पर उन्हें व उनकी पार्टी को अवधेश नारायण सिंह मंजूर नहीं हैं| दूसरी ओऱ उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा है कि सभापति पद का फैसला महागंठबंधन के नेता करेंगे| जदयू के प्रवक्ता नीरज ने कहा कि एनडीए के सरकार में कांग्रेस के अरुण कुमार सभापति थे| उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार हमेशा उच्च परंपरा को कायम रखनेवाले व्यक्ति हैं|

कांग्रेस के रामचन्द्र भारती ने कहा कि महागठबंधन ठीक से चुनाव लड़ती तो परिणाम कुछ और होते लेकिन अवधेश नारायण सिंह की जीत पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि आगे भी सभी दलों को उन्हे ही सभापति बनाये रखना चाहिए, जबकि तेजस्वी यादव ने कहा कि मिल बैठकर सभापती पर फैसला लिया जायेगा| उन्होंने कहा कि जहां-जहां महागठबंधन एक साथ लड़ा वहां जीत हुई ,इसको आगे भी देखना पड़ेगा|

रिपोर्ट- कुमार आशुतोष

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here