सावन के आखिरी सोमवार को बटेश्वर नाथ बाबा पर जल चढाने के लिए जुटी लम्बी भीड़

जौनपुर (ब्यूरो)- जनपद के बरईपार मे बटैस्वर नाथ महादेव मन्दिर मे सावन के आख़री सोमवार को श्रधालुओं जन सैलाब उमडा | इस मन्दिर के बारे मे यहाँ के बुजुर्गो का कहना है कि कई साल पहले यहाँ के पंडीत श्री मथुरा पंडित जी को स्वप्न आया कि मै आप के उत्तर के खैत मे हूँ|

उन्होंने बताया कि पंडित जी को खुद भगवान्मे भोलेनाथ ने बताया कि मेरी खुदाई कराकर मेरा मन्दिर बनवाये और पंडित जी खुदाई कराकर शिवलिंग तलासने लगे काफी प्राक्रतिक विपत्तियों के बाद यह शिवलिंग दीखाइ पड़ा और लोग कहते है कि जब यह शिवलिंग मिला था तब यह एक उंगली से भी छोटा था |

उसी समय उन्हें एक और स्वप्न आया कि जिस दीन मै पूर्णयतः कैलाश पर्वत की तरफ झुकर धरती मे समाहित हो जाऊँगा उसी दीन इस पृथ्वी का विनास हो जाएगा और इस तरह पंडित जी जन कल्याण के लिए शिवमन्दिर का निर्माण कर बाबा भोले नाथ ने जो स्वप्न दीया था उसके अनुसार मन्दिर बनवाकर पूजा पाठ करने लगे | धीरे-धीरे यह मंदिर जन आस्था का केन्द्र बन गया |

डॉ. अमित कुमार पाण्डेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here