जल्द ही जेल से बाहर आ सकती है साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर

0
1225

मुंबई- महाराष्ट्र के मालेगांव ब्लास्ट मामले में NIA की तरफ से क्लीन चिट मिलने के बाद अब साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर बहुत ही जल्द जेल से बाहर आ सकती है | इस मामले में साध्वी के वकील ने कोर्ट में याचिका भी दाखिल कर दी है | मीडिया में आई रिपोर्ट के आधार पर बताया जा रहा है कि साध्वी प्रज्ञा सिंह की रिहाई के मामले में मुंबई की एक लोकल अदालत में NIA की याचिका पर भी सुनवाई हो सकती है |

कुछ ही दिन पहले NIA ने दी थी क्लीन चिट –
बता दें कि हाल ही में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को यह कहते हुए मालेगांव ब्लास्ट से क्लीन चिट दे दी थी कि उनके पास साध्वी के खिलाफ कोई भी ठोस सबूत नहीं है | NIA ने कहा था कि ऐसा कोई भी आधार नहीं है जिससे यह साबित हो सके साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर इस मामले में सम्मिलित थी | इसके बाद NIA ने विगत 13 मई को कोर्ट में एक दूसरी चार्जशीट दाखिल की थी | साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को क्लीन चिट देने के साथ ही साथ NIA ने कर्नल पुरोहित के ऊपर से भी मकोका की धारा हटा ली थी |

मालेगांव ब्लास्ट – साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को NIA ने दी क्लीन चिट, आ सकती है जेल से बाहर

ATS मुंबई की जांच पर लगे प्रश्नचिन्ह –
NIA ने अपनी चार्जशीट में यह लिखा है कि कर्नल पुरोहित के घर से जब उन्हें गिरफ्तार किया गया था तब उनके घर पर जो आरडीएक्स बरामद हुआ था वो सब ATS ने खुद ही कर्नल के घर पर रखवाया था | बता दें कि 2008 में जब मालेगांव में ब्लास्ट हुए थे उस समय मुंबई ATS के प्रमुख थे हेमंत करकरे | मालेगांव ब्लास्ट होने के कुछ दिन बाद ही मुंबई में हुए आतंकी हमले में ATS प्रमुख हेमंत करकरे शहीद हो गए थे | NIA ने अपनी चार्जशीट में कहा है कि कर्नल पुरोहित के खिलाफ जो भी सबूत पेश किये गए है वे गलत पाए गए है और जिन गवाहों के बयान इस मामले में दर्ज किये गए है वे भी दबाव में लिए गए है | हालाँकि NIA ने अपनी चार्जशीट में भी कर्नल पुरोहित को मुख्य आरोपी के तौर पर अभी भी रखा है |

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के खिलाफ नहीं मिले कोई ठोस सबूत –
NIA ने अपनी चार्जशीट में लिखा है कि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के ऊपर जो भी आरोप लगाए गए थे उनसे सम्बंधित किसी भी प्रकार का कोई भी ठोस सबूत हमें नहीं मिला है | NIA ने यह भी दावा किया है कि कर्नल पुरोहित के घर पर आरडीएक्स मुंबई ATS ने ही रखा था इसके पर्याप्त सबूत हमारे पास उपलब्ध है | पूरे मामले में NIA ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के खिलाफ किसी भी प्रकार के ठोस सबूत मिलने से इंकार किया है |

2 धमाकों में 7 लोगों कि हुई थी मौत –
बता दें कि वर्ष 2008 में महाराष्ट्र के मालेगांव में हुए 2 बम धमाकों में कुल 7 लोगों की मौत हो गयी थी और कई लोग इस मामले में गंभीर रूप से घायल हो गए थे | इस मामले में कुल 14 लोगों को आरोपी बनाया गया था |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here