सफाई कार्य न करने वाले सफाई कर्मियों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही अमल में लायी जाये जिलाधिकारी

0
55


मैनपुरी (ब्यूरो) गांव में खुली बैठक का आयोजन कर गांव के प्राथमिकता वाले कार्यों का खाका तैयार किया जाये, गांव के विद्यालयों, आंगनबाडी केन्द्रों के शौचालय दुरस्त कराये जायें उनमें टायल्स लगाये जायें, राज्य वित्त, 14वें वित्त की धनराशि परिसम्पत्तियों की मरम्मत,पुरानी टूटी नाली खडंजा का निर्माण कार्य कराया जायें, सीसी रोड का निर्माण किसी भी दशा में न हो, सफाईकर्मी का वेतन प्रधान, सचिव, प्रधानाध्यापक, आंगनबाडी कार्यकत्री के हस्ताक्षर के उपरान्त ही आहरित किया जाये यदि क्षेत्र में एक से अधिक विद्यालय अंागनबाडी केन्द्र हो तो हस्ताक्षर बदल कर कराये जायें यदि इनके बिना हस्ताक्षर किये सफाईकर्मी का वेतन निकला तो सहायक विकास अधिकारी पंचायत नपेंगंे। ग्राम विकास अधिकारी के पे-रौल पर कैश बुक पूर्ण होने के बाद ही हस्ताक्षर किये जायें, गांव के विद्यालय में खण्ड विकास अधिकारी,प्रधान ,पंचायत सचिव, लेखपाल,आंगनबाडी कार्यकत्री, आशा, एएनएम, कोटेदार, सफाई कर्मी का नाम व मोबाइल नंबर सदृश्य स्थान पर लिखवाया जाये।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी यशवंत राव ने ग्राम विकास योजना के अन्तर्गत क्रियान्वन एवं समन्वयन समिति की बैठक के दौरान दिए। उन्हेाने साफ लहजे में कहा कि सभी सहायक विकास अधिकारी पंचायत सुनिश्चित करें कि गांव में खुली बैंठकों का आयेाजन कर प्राथमिकता वाले कार्यो की सूचीं बनाये, कार्याे में सबसे ऊपर हैण्डपम्पों की मरम्मत,विद्यालयेां,आंगनवाड़ी केन्द्रो के शौचालयो को रखें,ग्राम विकास अधिकारियो की दैनिक डायरी ग्राम पंचायत की कार्यवाही का रजिस्टर,कोष रजिस्टर का अवलोकन करने के उपरान्त ही वेतन आहरण की संस्तुति की जाये,गांव में सफाई कार्य न करने वाले सफाई कर्मियो के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही अमल में लायी जाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार गुप्ता, अपर जिलाधिकारी (वि.रा.) बी.राम, परियोजना निदेशक आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – दीपक शर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY