सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिंग्स लगातार दर्ज कि 25वीं जीत, जल्द ही कर सकती है विश्वरिकार्ड अपने नाम

0
341

ब्रिस्बेन- दुनिया की नंबर एक टेनिस जोड़ी सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिस ने शुक्रवार यानि आज ब्रिस्बेन में चल रहे ब्रिस्बेन इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट में आंद्रिया क्लेपाक और एल्ला कुद्रियावेत्सवा को 6-3, 7-5 से हरा दिया है I टूर्नामेंट की शीर्ष वरीयता प्राप्त जोड़ी को वरीयता क्रम में चौथे नंबर की जोड़ी से जीत के लिए दूसरे सेट में थोड़ा संघर्ष करना पड़ा. लेकिन, भारत और स्विट्जरलैंड के खिलाड़ियों की इस जोड़ी ने सही समय पर सही शॉट लगाए और मैच जीत लिया I

इन दोनों खिलाड़ियों ने एक साथ खेलते हुए लगातार 25वीं जीत दर्ज की है I भारत और स्विटजरलैंड की इस शीर्ष वरीयता जोड़ी ने स्लोवाकिया की आंद्रिया क्लेपाक और रूस की एल्ला कुद्रयावत्सेवा को 6-3, 7-5 से हराकर खिताबी मुकाबले में प्रवेश किया।

सानिया और हिंगिस को फाइनल में मुकाबला अनाबेला मेडिना गारिगेज और अरांत्सा पैरा सैंटोंजा की स्पेनिश जोड़ी तथा एंजेलिक केरबर और आंद्रिया पेटकोविच की जर्मन जोड़ी के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा।

सानिया और हिंगिस अभी दुनिया की नंबर एक जोड़ी है। उन्हें पहले सेट में जीत दर्ज करने में कुछ भी परेशानी नहीं हुई लेकिन दूसरे सेट में उन्हें थोड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा। सानिया ने कहा कि लंबे समय से हमें हार नहीं मिली लेकिन नए सत्र की शुरुआत करना आसान नहीं होता है विशेषकर तब जबकि आपके लिए पिछला सत्र शानदार रहा हो। हर कोई हमें हराने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

उन्होंने कहा कि हम अभी एक बार में एक मैच पर ध्यान दे रहे है। सकारात्मक हैं और पिछले सत्र में हमने जहां समापन किया था वहीं से आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे हैं।

सानिया और हिंगिस ने पिछले सत्र में पांच खिताब जीते थे। उनका अजेय अभियान सारा ईरानी और रॉबर्टा विन्सी के 2012 में 25 जीत के बाद सबसे लंबा है। इटली की इस जोड़ी ने भी लगातार पांच टूर्नामेंट बार्सिलोना, मैड्रिड, रोम, फ्रेंच ओपन और हर्टगोनबोस्क में जीत दर्ज की थी। विंबलडन में उनके विजय अभियान पर रोक लगी थी।

हिंगिस ने कहा, नए सत्र की हमारी शुरुआत शानदार रही है। हमने कभी यह नहीं सोचा कि हमने 2015 में समापन कर दिया था। मैं इंडियन लीग में और सानिया आईपीटीएल में खेली इसलिए हमने खुद को कोर्ट पर व्यस्त रखा था।

उन्होंने कहा कि हम यहां एक और फाइनल में पहुंचकर वास्तव में खुश हैं और अब हमारी निगाह एक और खिताब जीतने पर हैं। महिला युगल में लगातार 25 से अधिक मैच जीतने वाली आखिरी टीम गिगी फर्नाडिस और नतासा जेवेरेवा की थी जिन्होंने 1994 में लगातार 28 जीत दर्ज की थी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY