समाधान दिवस के दौरान भड़के एस पी

कुशीनगर(ब्यूरो)- तरयासुजान थाने में समाधान दिवस में पीड़ितों की फरियाद सुनने के पश्चात पुलिस कप्तान यमुना प्रसाद ने थाना परिसर सहित कार्यालय का गहनता से निरीक्षण किया। अभिलेखों को अधूरा पाए जाने व ठीक रख-रखाव न होने पर दीवान व मुंशी को लाइन हाजिर कर दिया। परिसर में गंदगी देख उनकी भौंह टेढ़ी हो गई।

एसओ ने व्यवस्था सुधारने के लिए तीन दिन की मोहलत मांगी तो नरम पड़े कप्तान ने जिम्मेदारियों का ठीक ढंग से निर्वहन की चेतावनी दी। शनिवार को पहुंचे कप्तान समाधान दिवस के बाद सीधे कार्यालय पहुंचे। गंदगी व्याप्त देख उनका पारा गरम हुआ। कप्तान ने त्योहार रजिस्टर मांगा, जो अपूर्ण मिला।

धार्मिक स्थलों के रजिस्टर में मंदिर-मस्जिद की फोटो तो दूर नाम तक नही लिखा गया था। दस्तावेज व रजिस्टर अस्त-व्यस्त पड़े थे। कप्तान ने दीवान व मुंशी को फटकार लगाते हुए इन्हें हटाने व वेतन बाधित करने के लिए निजी वाचक को निर्देशित किया। हवालात के निरीक्षण के दौरान सफाई का निर्देश दिया। परिसर निरीक्षण के दौरान बेतरतबी पड़े जब्त वाहनों को तरतीब से रखने का निर्देश दिया।

थाना परिसर में व्याप्त गंदगी के लिए फटकार लगाई तो डायल 100 में तैनात पुलिसकर्मियों को लाइनअप कर सफाई के लिए निर्देशित किया। कप्तान के कड़े तेवर देख एसओ सत्येंद्र कुंवर ने चंद दिनों पूर्व तैनात होने का हवाला देते हुए मोहलत मांगी तो कप्तान ने तीन दिन का समय देते हुए पुन: निरीक्षण की बीच कही।

पुलिस कर्मियों को आदत में सुधार लाने की नसीहत दी व अधूरे बाउंड्रीवाल के लिए शीघ्र धन संस्तुत करने का आश्वासन दिया। कप्तान की कार्रवाई से पुलिस कर्मियों में हड़कंप है।

रिपोर्ट-राहुल पाण्डेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here