सरकारी योजनाओं में हो रही है जमकर धांधली, ग्रामीणों ने किये चौकाने वाले खुलासे

0
50

मऊरानीपुर/झाँसी (ब्यूरो)- विकास खण्ड बंगरा के ग्राम बुढिया के ग्रामीणों को रोजगार न मिलने से परेशान लगभग गाॅव के अधिकाॅश मजदूर वर्ग के लोग बडें शहरों, महानगरो की ओर दो वक्त की रोटी के लिए पलायन कर चुके है। इतना ही नही ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए बताया कि उनका जाॅब कार्ड तो बना दिया गया है। लेकिन काम आज तक नही दिया गया। तथा विना काम किये ही खातों मे पैसा आ जाता है। तो उसे भी प्रधान द्वारा दंबगई के बल पर निकलवा लिया जाता है।

ग्राम के गोपाल पुत्र सरी ने बताया कि 10 साल पहले उसका जाॅव कार्ड बनाया गया था। लेकिन आज तक उसे काम नही दिया गया। साथ ही उसने चैकाने वाली बात बतायी कि उसके खाते मे विना काम किये पैसा आया तो उसे प्रधान द्वारा दंबगई के साथ बैंक ले जाकर खाते से पैसा निकलवा कर उसे 500 रूपये देकर चलता कर दिया।

वहीं ग्राम के राजेन्द्र ने बताया कि उसका जाॅव कार्ड 11 साल पहले बना हुआ था। लेकिन काम आज तक नही मिला। पैसा तो खाते मे आया लेकिन उसे भी निकलवा कर खर्चा देकर चलता कर दिया। रधुवीर ,गनेश , सुरेन्द्र, जानकी प्रसाद, मनोज , बृजेन्द्र , दिनेश, लक्ष्मन प्रसाद, दीनदयाल , आदि के जाॅव कार्ड बनने के बाद भी उन्हे काम से बंिचंत रखा गया । तथा उनके खातो से इसी तरह फेरा फेरी करके सरकार की योजनाओ को पलीता लगाकर लाखो की धनराशि के बारे न्यारे कर लिये।

ग्राम मे काम न मिलने से लेाग दो वक्त की रोटी की तलाश मे शहरो के लिए पलायन कर गये है। जिससे वह अपना व अपने परिवार का भरण पोषण कर सके। वहीं ग्राम के प्रधान आनन्द पटेल का कहना है कि गाॅव मे कुल 400 जाॅव कार्ड है तथा 150 लोगो को काम दिया गया है। उनके कार्यकाल मे ऐसा किसी के साथ नही किया गया। आखिर सही कौन है और गलत कौन इसकी हकीकत तो जाॅच के बाद ही सामने आयेगी।

रिपोर्ट- रवि परिहार

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY