सरकार ग्रामीण और जनजातीय जनसंख्‍या वाले क्षेत्रों में उन्‍नत चूल्‍हों और सौर यंत्रों का वितरण करेगी

0
465

монро выборг каталог inden gais

конкурс молодежных проектов

чай гербалайф для похудения отзывы 14-08-2015 – ग्रामीण और जनजातीय जनसंख्‍या वाले क्षेत्रों में जनसंख्‍या को धुंआ रहित खाना बनाने और स्‍वच्‍छ ऊर्जा के साधन उपलब्‍ध कराने के उद्देश्‍य से नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने नवीकरणीय ऊर्जा यंत्रों के वितरण की योजना बनाई है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत क्षतिपूरक वनरोपण निधि प्रबंधन और योजना प्रशासन (सीएएमपीए) की निधि का प्रयोग करते हुए उन्‍नत चूल्‍हें, सौर कुकर, सौर लैम्‍प, सौर ऊर्जा से घरों में रोशनी करने वाली प्रणाली आदि का वितरण करने की योजना बनाई है। अब इस कार्यक्रम को वन रक्षण और संरक्षण प्रयासोंकी परिभाषाओं तथा अधिसूचित वनों/संरक्षित क्षेत्रों के प्रबंधन में सम्‍मिलित किया गया है।

सीएएमपीए द्वारा इस संबंध में निधि के प्रयोग के लिए दिशानिर्देश हेतु राज्‍यों और संघशासित प्रदेशों को परिपत्र भेजा जा चुका है। कुल निधि का कम से कम 70 प्रतिशत हिस्‍सा राष्‍ट्रीय पार्कों, अभयारण्‍यों और संरक्षित वनों वाले क्षेत्रों में खर्च किया जाएगा। इस संबंध में नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा अगले पांच वर्षों के लिए राज्‍यों और संघशासित प्रदेशों से उन्‍नत चूल्‍हों, सौर कुकर, सौर लैम्‍प, सौर ऊर्जा से घरों में रोशनी करने वाली प्रणाली आदि का लक्ष्‍य निर्धारित करने का अनुरोध किया गया है।

http://figurafit.lv/owner/skolko-stoit-silovoy-transformator.html сколько стоит силовой трансформатор source -PIB