यूपी में समाजवादी पार्टी को लगा और बड़ा झटका, आज़म खान की करीबी MLC हुई बीजेपी में शामिल

0
167

लखनऊ (ब्यूरो)- उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव समाप्त हुए काफी वक्त बीत चुका है | इसी के साथ ही कांग्रेस-समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी को हार का सामना किये हुए भी लम्बा वक्त हो गया है लेकिन फिर सूबे में इन पार्टियों की लगातार हार का सिलसिला और बीजेपी की जीत का सिलसिला अभी भी बरकरार है |

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के इन दिनों बड़े और दिग्गज नेता जिन्हें कभी मुलायम सिंह यादव का बड़ा समर्थक कहा जाता है उन्होंने पार्टी से या तो किनारा कर लिया है या फिर पार्टी को छोड़ ही दिया है | आपको बता दें कि इसी क्रम में सपा के 2 दिग्गज MLC ने पहले ही स्तीफा दे दिया था और आज मेरठ से समाजवादी पार्टी की एक और दिग्गज MLC ने पार्टी छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया है |

बताते चले कि आज़म खान की बेहद करीबी मानी जाने वाली सरोजनी अग्रवाल ने समाजवादी पार्टी को छोड़ अब बीजेपी का दामन थाम लिया है | सरोजनी को आज रीता बहुगुणा जोशी और मंत्री महेंद्र सिंह ने बीजेपी ज्वाइन करवाया | बताया तो यहाँ तक भी जा रहा है कि समाजवादी पार्टी के 2 और एमएलसी सपा को छोड़ बीजेपी का दामन थाम सकते है |

2 एमएलसी पहले ही छोड़ चुके है सपा-
आपको ज्ञात हो कि दो दिग्गज एमएलसी पहले ही सपा को छोड़ बीजेपी का दामन थाम चुके है | जिन दो लोगों ने समाजवादी को छोड़ भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा है उनमें आपको बता दें कि मुलायम सिंह यादव के बेहद करीबी माने जाने वाले बुक्कल नवाब का नाम शामिल है और यशवंत सिंह है | बुक्कल नवाब के बारे में आपको बता दें कि यह सपा एमएलसी के साथ-साथ राष्ट्रीय शिया समाज के संस्थापक भी है |

बसपा के नेता भी कर रहे है किनारा –
आपको बता दें कि ऐसा नहीं है कि केवल इस तरह की गाज केवल समाजवादी पार्टी के ऊपर ही टूट रही है | समाजवादी के साथ-साथ और कभी प्रदेश की सबसे प्रभावी पार्टी रही बहुजन समाजवादी पार्टी के भी कई दिग्गज नेता पार्टी का साथ छोड़ बीजेपी में जाने का मन बना रहे है | चुनाव से पहले कुछ जा भी चुके है जिनमें नेता विपक्ष रहे स्वामी प्रसाद मौर्या का नाम प्रमुखता से है | इसके अलावा चुनाव के बाद लगे झटकों में एमएलसी जयवीर सिंह हाथी की सवारी छोड़ कमल का दामन थाम लिया है |

बता दें कि इन इस्तीफों से 3 MLC के पद खाली हों गए है| इससे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव और दिनेश शर्मा MLC के तौर पर सदन में जा सकते हैं| ये तीनों अब तक किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं |

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here