पूर्व राष्ट्रपति वीवी गिरी के 37वीं पुण्यतिथि पर सतीश चंद्र कालेज में उमड़ा समाज

बलिया(ब्यूरो)- अखिल भारतीय गोस्वामी महासभा की ओर से सतीश चंद्र महाविद्यालय में देश के चौथें राष्ट्रपति वीवी गिरी के 37वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। प्रदेश के कोने-कोने से आये गोस्वामी समाज के लोगों ने गोस्वामी समाज को संगठित करने तथा नई पीढ़ी को नई दिशा देने का संकल्प लिया। इस बात पर सहमत व्यक्त किगई कि समाज के कमजोर वर्ग के उत्थान के लिए संगठन काम करें। समाज के सम्पन्न लोगों से भी इस दिशा में काम करने की अपील की गई।

कार्यक्रम के प्रारम्भ में अतिथियों ने मंच पर पूर्व राष्ट्रपति वीवी गिरी के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित किया। इससे पूर्व सतीश चंद्र कालेज के संस्थापक महंथ सतीश चंद्र गिरी के आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दिया। कार्यक्रम का शुभारम्भ सेंट जेवियस के छात्राओं के राष्ट्रगान से प्रारम्भ हुआ। मुख्य अतिथि लखिमपुर खिरी से भाजपा विधायक अरविंद गिरी ने कहा कि आद्य शंकराचार्य से लेकर देश के चौथे राष्ट्रपति रहे वीवी गिरी तक का गोस्वामी समाज का एक स्वर्णिम इतिहास रहा है। इस सुनहरे इतिहास को आगे बनाये रखने के लिए नये पीढ़ी को पहल करने की जरूरत है। उन्होंने गोस्वामी समाज से संगठित होकर समाज को मजबूत बनाने में सहयोग करने की अपील की। इस दिशा में काम कर रहे समाज के राष्ट्रीय संगठन मंत्री एवं उ0प्र0 तथा मध्य प्रदेश के प्रभारी लक्ष्मण गिरी के प्रयासों की सराहना की। कहा कि वहीं व्यक्ति आगे बढे या जो समाज के विकास के लिए सोच रखता हो। संगठन के निर्णय के साथ गोस्वामी समाज को खड़ा होने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने स्वयं का उदाहरण प्रस्तुत करते हुए कहा कि गोस्वामी समाज के अलावा हर वर्ग का सहयोग नहीं मिलता तो मैं चौथी बार विधायक नहीं बन पाता। गोस्वमा समाज को पूर्वांचल में संगठित करने के लिए लक्ष्मण गिरी व युवा नेता अरविंद गिरी को आगे आकर काम करने की जरूरत पर बल दिया। आगामी नम्बर माह में गोस्वामी समाज का सम्मेलन लखनऊ में बुलाने की घोषणा की। गोस्वामी समाज को विश्वास उन्होंने विश्वास दिलाया कि जहां वे जरूरत महसूस करेंगे वहां पर उन्हें वे खड़ा पायेंगे।

विशिष्ट अतिथि युवा नेता अरिंवंद गिरी ने कहा कि राष्ट्रपति बनने के पूर्व वराह वैंकट गिरी ने देश के मजदूरो को संगठित कर उन्हें हक दिलाने का प्रयास किया। उन्होंने उनकी जयंती व पुण्यतिथि को देश के हर जनपद में समारोह पूर्वक बनाने की आवश्यकता पर बल दिया। कलाकार राकेश गिरी एवं उनकी पार्टी ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। इस मौके पर अखिल भारतीय गोस्वामी समाज के उ0प्र0 के अध्यक्ष नानबच्चा गोस्वामी, बिहार के प्रदेश अध्यक्ष राजाराम गिरी, मेरठ से आये रामकिशोर गिरी, फरिदाबाद से आये मोहन गिरी, बक्सर से आये रमाशंकर भारती के अलावे पूर्वांचल प्रभारी अजीत गिरी, कृष्णानंद गिरी, अंशुमान गिरी, राजकिशोर गिरी, अवधेश गिरी, कन्हैया गिरी, ग्राम प्रधान अमरनाथ गिरी, संजय गिरी, श्यामसुंदर गिरी, भगवान गिरी, रमेश गिरी, बब्बन गिरी, रामायण गोस्वामी, इद्रजीत गिरी, रामबहादुर गिरी, बलिराम गिरी, दिनेश्वर गिरी, मुन्ना गिरी, कन्हैया गिरी, शम्भू गिरी, अशोक भारती, पप्पू गिरी, मिथिलेश भारती आदि ने स्वागत करते हुए विचार व्यक्त किये। श्रद्धांजलि सभा की अध्यक्षता कर रहे हरिहर यती ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। संचालन नृत्यानंद गोस्वामी ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here