शनि केवल नुकसान ही नहीं फायदा भी करता है

0
128

बांगरमऊ/उन्नाव (ब्यूरो) शनि केवल नुकसान ही नहीं फायदा भी करता है । शनि की साढ़ेसाती होने पर व्यक्ति को कम दिन नुकसान होता है और ज्यादा दिन फायदा होता है। यह बात आज यहाँ एक ज्योतिष शास्त्र पर आयोजित एक कार्यशाला में क्षेत्र के ज्योतिषाचार्य रघुनाथ शास्त्री ने अपनें वक्तब्य में शनि के प्रभाव पर चर्चा करते हुए कही ।

उन्होंनें कहा कि शनि की साढ़ेसाती सत्ताईस सौ दिनों की होता है तो उसमे एक हजार दिन नुकसान करते है ।और शनि की साढ़ेसाती एक हजार सात सौ दिन फायदा करते है। इस क्रम में उन्होंने बताया कि शुरू शुरू में शनि का प्रकोप जिस मनुष्य पर साढ़े साती के रूप में रहता है तो उस मनुष्य के शुरू के चार सौ दिन दाहिनें हाथ में रहकर उस व्यक्ति को रोगी बनाता है, उसके बाद बाएं पैर के अंगूठे में छ्ह सौ दिन रहकर लाभ देता है । बाएं हाथ यानी उल्टे हाथ में चार सौ दिन रहकर लंबी यात्राएं करवाता है।उन्होंने कहा कि उसके बाद पाँच सौ दिन पेट में रहकर दरिद्रता उस व्यक्ति को प्रदान करता है।, तीन सौ दिन सिर में रहकर के व्यक्ति को जीवन के विशेष लाभ देता है। उनके अनुसार दक्षिण नेत्र में दो सौ दिन रह कर व दो सौ दिन वाम नेत्र में रहकर सौभाग्य प्राप्त करवाता है। शनि की साढ़ेसाती आखिरी में एक वर्ष गुदा में रहकर और मृत्यु जैसी भयंकर बीमारियों से या एक्सीडेंट दुर्घटना जैसी दिक्कतों से ग्रसित कराता है। इसलिए व्यक्ति को शनि की साढ़ेसाती प्रारंभ में कष्ट देती है और अंत में कष्ट देती है किन्तु बीच के दिनों में लाभ देता है ।शनि की साढ़ेसाती से भक्तों को परेशान नहीं होना चाहिए। शनि की साढ़ेसाती की दशा में व्यक्ति को काले कपड़े और काले जूते अवश्य पहनने चाहिए। जिससे शनि की साढ़ेसाती कभी भी नुकसान नहीं करेगा और न ही साढ़े साती से पीड़ित ब्यक्ति परेशान होगा ।

रिपोर्ट – रघुनाथ प्रसाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here