सौरभ सौरभ हत्याकांड में पुलिस ने किया खुलासा, सभी आरोपियों को भेजा जेल

0
61


झरिया/धनबाद (ब्यूरो)- झरिया के चर्चित सौरभ हत्याकांड मामले में पुलिस ने सोमवार को खुलासा करते हुए सभी चार नामदज आरोपीयो को गिरफ्तार कर लिया है। इसकी जानकारी सिटी एसपी पियूष पाण्डेय ने प्रेस कांफ्रेंस कर दी।इस मामले में मुख्य अभियुक्त सुमित साव उर्फ़ कारू पहले ही जेल जा चूका था शेष बचे तीन आरोपियों को पुलिस ने मीडिया के सामने पेश किया।

मालूम हो कि विगत 29 जुलाई की रात झरिया के कोयरीबांध में सौरभ कुमार साव की हत्या कर दी गई थी। हत्या के मुख्य आरोपी सुमित कुमार साव उर्फ कारू गिरफ्तार भी हो गया। दो अन्य आरोपी सोनु कुमार साव, विकास कुमार साव ने थाने में आकर आत्मसमर्पण कर दिया। झरिया पुलिस ने उक्त तीनों को रविवार को जेल भेज दिया। यहां पर पब्लिक का दाे चेहरा देखने काे मिला।

घटना के बाद आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस के विरुद्ध नारेबाजी की गई। इस पर पुलिस रेस हो गई। दो आरोपियों के घर से महिला सदस्यों को थाने लाया गया। इसी बीच हत्यारा सुमित कुमार साव उर्फ कारू कोयरीबांध पहुंच गया। कुछ लोग ने उसकी पिटाई कर दी। लेकिन इसी में कुछ लोग ऐसे भी थे जो उसे वहां से भगाने पर आमादा थे। पुलिस को सूचना मिल गई और वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया। मामले में मृतक के पिता रामचंद्र साव की लिखित शिकायत पर कांड संख्या 172/17 दर्ज की गई है। मुख्य हत्यारोपी सुमित कुमार साव उर्फ कारू के अलावे संटी कुमार राउत, सोनू कुमार साव उर्फ काना, विकास कुमार साव को नामजद किया गया है।

नहीं थम रहे थे परिजनों के आंखों के आंसू-
कोयरीबांध में घटना की खबर से कोहराम मच गया। मां रंजना देवी, बहन सोनाली कुमारी, बड़े भाई श्याम सागर साव और पिता रामचंद्र साव की स्थिति खराब हो गई थी। इस दृश्य को देखने वालों की आंखों के आंसू थम नहीं रहे थे। मोहलबनी घाट पर उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

चेहरे पर नहीं दिखी थोड़ी भी शिकन-
हत्यारा कारू के चेहरे पर तनिक भी शिकन देखने को नहीं मिली। वह बार-बार यह कह रहा था कि सौरभ मर गया तो वह क्या करे। उसने थोड़े ही हत्या की है। वह तो ऐसे ही मार दिया था।घटना के विषय में पुलिस ने बताया की यह एक जघन्य अपराध है और मामले का स्पीडी ट्रायल के लिए न्यालय से दरख्वास्त की जायेगी।

रिपोर्ट- गणेश रावत 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here