गड़हा विकास मंच द्वारा आयोजित हुआ सावन उत्सव

बलिया (ब्यूरो)- भगवान शिव का प्रिय महीना सावन, बारिश की फुहार और जोश व उत्साह के माहौल के बीच परम्परा के गीत ‘कजरी’ ने ऐसा जादू चलाया कि सबका तन-मन डोल गया। मंच पर भोजपुरी संगीत जगत के सम्राट भरत शर्मा व्यास की मौजूदगी ने तो जैसे पूरे आयोजन में चार-चांद लगा दिया। उम्र ढलने के बावजूद भरत शर्मा की आवाज की वही पुरानी बुलंदी को देखने व सुनने के बाद हर कोई मुग्ध हो गया। इनके साथ मिर्जापुर से आयीं कुसुम पांडे, लखनऊ की मोहिनी द्विवदी, गायिका व अभिनेत्री निशा पांडे तथा जिले की कलाकार प्रियंका पायल के गीतों ने दर्शकों को खूब झुमाया।

अखिल भारतीय भोजपुरी विकास संस्थान सम्बद्ध गड़हा विकास मंच की ओर से शनिवार की शाम टाउन हाल के बापू भवन में आयोजित कार्यक्रम भोजपुरी संगीत के लिए यादगार क्षण था। ‘सावन उत्सव’ के नाम से हुए आयोजन में भोजपुरी माटी के सभी रंग बिखरे। मां की वंदना हुई तो भगवान शिव की स्तुति भी लेकिन सबकुछ ‘कजरी’ की धुन पर। भरत शर्मा के गीतों से कार्यक्रम का जो शानदार आगाज हुआ, वह अंततक उसी रौ में बहता रहा।

लगातार करीब दो घंटे की उनकी प्रस्तुति को दर्शक मुग्ध होकर अपलक देखते रहे। इसके बाद लखनऊ से आयीं मोहिनी ने कजरी गीतों पर युवाओं को खूब झुमाया। प्रियंका पायल की सुरीली आवाज का जादू दर्शकों के सिर चढ़कर बोला तो मिर्जापुर की ‘कजरी स्पेशलिस्ट’ कुसुम पांडे ने ‘खोल ना केवडिया हम विदेशवा जइबो ना…’, ‘कचौड़ी गली सून कईल बलमू…’ जैसे परम्परागत गीतों से सबका दिल जीत लिया। रही-सही कसर गोपाल राय व निशा पांडे की जुगलबंदी ने पूरी कर दी।

विधायक-पूर्व मंत्री ने किया शुभारम्भ
‘कजरी उत्सव’ का शुभारम्भ बलिया नगर के विधायक आनंद स्वरूप शुक्ल व पूर्व मंत्री नारद राय के साथ भोजपुरी सम्राट भरत शर्मा, गड़हा विकास मंच के अध्यक्ष चंद्रमणि राय, संरक्षक सुधीर ओझा, महासचिव विजेन्द्र राय व सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष गायक गोपाल राय ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। विधायक ने सभी कलाकारों को स्मृति चिह्न, बुके व अंगवस्त्रम देकर सम्मानित किया। इस मौके पर डा. अखिलेश राय, ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि सतीश चौधरी नागा, सुशील पांडे, अमरजीत सिंह, आशीष त्रिवेदी, डा. इफ्तेखार खां, विवेकानंद सिंह आदि थे।

मंत्री उपेन्द्र तिवारी ने किया भरत शर्मा का सम्मान
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश सरकार के मंत्री उपेन्द्र तिवारी थे। हालांकि वे कई अन्य कार्यक्रमों में व्यस्तता के चलते देर से पहुंचे। उन्होंने मंच पर भोजपुरी सम्राट भरत शर्मा व्यास को न सिर्फ सम्मानित किया बल्कि भोजपुरी संगीत के क्षेत्र में उनकी बादशाहत का भी लोहा माना। कहा कि ऐसे आयोजनों से भोजपुरी संस्कृति को ताकत मिलती है। इसके लिए मंत्री ने गड़हा विकास मंच को बधाई दी।

मंच की ओर से चंद्रमणि राय, सुधीर ओझा, गोपाल राय, विजेन्द्र राय, वरिष्ठ पत्रकार हरिनारायण मिश्र, नितेश राय आदि ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिह्न व अंगवस्त्रम से सम्मानित किया।

 

मंच पर लगा झूला रहा खास आकर्षण
टाउन हाल में आयोजित ‘सावन उत्सव’ के लिए तैयार मंच बेहद आकर्षक रहा। मंच के एक  ओर रखा झूला खास आकर्षण का केन्द्र रहा। कृष्ण व राधा के रूप में झूला झूलती बहनों की बाल हरकतें लोगों को रिझा रही थी। पूरा नजारा मंच पर सावन की मौजूदगी का एहसास करा रहा था।

जनपद ही नहीं बल्कि पूर्वांचल के मशहूर मंच उद्घोषकों में शुमार चितबड़ागांव के विजय बहादुर सिंह का जादू एक बार फिर दर्शकों के सिर चढ़कर बोला। आयोजन सावन का था, लिहाजा विजय का अंदाज भी उसी रंग में रंगा रहा।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY