तमिलनाडु में चुनाव आयोग द्वारा जब्त 570 करोंड रुपयों पर SBI ने ठोका अपना दावा

0
373

चेन्नई- शनिवार तडके चुनाव आयोग के उड़न दस्ते ने जिन तीन ट्रकों में 570 करोंड रूपये जब्त किये थे अब उन पैसों पर स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) ने अपना दावा ठोका है | SBI ने शनिवार शाम को एक बयान जारी कर कहा है कि चुनाव आयोग ने जिन 570 करोंड रुपयों को जब्त किया है वे सभी पैसे हमारे है और हम इन पैसों को रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया की अनुमति के बाद ही इसे विशाखापत्तनम ले जा रहे थे |

आँध्रप्रदेश में नगदी की कमी को दूर करने के लिए ले जा रहे थे –
स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने अपने बयान में कहा है कि, “आँध्रप्रदेश में नकदी की अस्थायी समस्या से निपटने के लिए हम रिजर्व बैक ऑफ़ इंडिया से अनुमति लेकर अपनी कोयंबटूर स्थित अपनी मुख्य शाखा से 570 करोंड रूपये तीन ट्रकों में भरकर हमारे विशाखापत्तनम स्थित विशेष शाखा में ट्रांसफर कर रहे थे | बैंक ने अपने बयान में यह भी कहा है कि रिजर्व बैंक के निर्देशों के अनुसार, कोयंबटूर स्थित हमारी शाखा ने अधिकृत अधिकारियों को यह धन ट्रांसफर करने के लिए दिया था | SBI के बयान में यह भी कहा गया है कि इस धन के साथ आँध्रप्रदेश पुलिस की उचित सुरक्षा ब्यवस्था थी | लेकिन इस दस्ते को शनिवार सुबह चुनाव आयोग के उड़न दस्ते ने रोक लिया था और आगे की कार्यवाही के लिए तिरुपति जिला कलेक्टर ऑफिस ले आये थे |

चुनाव आयोग ने पकड़ी थी नगदी –
गौरतलब है कि चुनाव आयोग के उड़न दस्ते ने शनिवार सुबह ही तीन ट्रकों को अपनी गिरफ्त में लिए था | जिनमें से आयोग को 570 करोंड रूपये नगद बरामद हुए थे | चुनाव आयोग ने शनिवार को ही बयान जारी करते हुए कहा था कि सुबह जब वे अर्धसैनिक बलों के साथ रुटीन जांच कर रहे थे तभी अधिकारियों ने इन तीनों ट्रकों और कारों को जांच के लिए रुकने के लिए कहा था लेकिन जब वे नहीं रुकी तो अधिकारियों ने उनका पीछा किया और बाद में चेंग्पल्ली के पास रोक लिया गया |

चुनाव आयोग ने इसके बाद कहा था कि जो लोग कारों में बैठे हुए थे उन्होंने खुद को आँध्रप्रदेश पुलिस के कर्मचारी बताया था लेकिन उन लोगों ने कोई भी वैधदस्तावेज नहीं दे पाए थे | जिसके साथ ही चुनाव आयोग ने यह भी कहा है कि ट्रक के ड्राइवरों ने जो पेपर दिखाए थे उन पेपर्स में जांच के दौरान कई त्रुटियाँ भी पाई गयी थी | साथ ही गाड़ियों के नंबर भी मैच नहीं हो रहे थे | जिसके बाद ही इन गाड़ियों को और साथ चल रहे लोगों को हम त्रिपुर जिला कलेक्ट्रेट लेकर आये थे |

हमारे अधिकारी सभी वैध पेपर दिखा रहे है – SBI
बैंक के अधिकारियों का कहना है कि उसके अधिकारी निर्वाचन अधिकारीयों के साथ हर प्रकार का सहयोग और स्पष्टीकरण दे रहे है | बैंक ने कहा है कि हमें आशा है कि हम जल्द ही इस मामले को सुलझा लेंगे | SBI ने कहा है कि हम एक बार फिर से यह दोहराते है कि नगदी का ये स्थांतरण रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया के निर्देशानुसार ही हो रहा था |

ज्ञात हो कि तमिलनाडु में इस समय आचार्य संहिता लागू है जिसके तहत ही चुनाव आयोग की टीमें जांच कर रही है और तमिलनाडु में 16 मई को विधानसभा में चुनाव होने है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY