दलित हत्याकाण्ड का आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर

0
73

मैनपुरी। थाना बेवर क्षेत्र में रविवार को दिन दहाड़े दलित युवक की हत्या कर दिए जाने के बाद से गांव में मातम छाया हुआ है। हत्या कांड को अंजाम देने वाला शातिर अपराधी है। किशोरावस्था में ही एक हत्याकांड को अंजात दे चुका था। रंगवाजी चमकाने के लिये आये दिन गांव में फायरिंग कर देता था। पुलिस हत्यारोपी की तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है। लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा है।
बताते चले कि थाना बेवर क्षेत्र के ग्राम नगला ताल में दंबग विक्रम सिंह ठाकुर और उसके साथियों ने दलित आलोक की गोली मारकर उस समय हत्या कर दी थी जब रविवार को विधानसभा का मतदान चल रहा था। मृतक चार दिन पूर्व ही दिल्ली से वापस गांव आया था। घटना के पीछे पुरानी रंजिश बताई जाती है। आलोक की हत्या के बाद से गांव में दहशत का आलम है। पुलिस लगातार हत्यारोपी की तलाश में छापेमारी कर रही है। पुलिस की छानवीन में पता चला है कि हत्या रोपी शातिर अपराधी है पाच साल पहले उसने एटा के थाना मलावन क्षेत्र में एक हत्याकांड को अंजाम दिया था, जिसमें उसे जेल जाना पड़ा था। जेल से छूटने के बाद उसने गांव में रंगवाजी चमकाना शुरू कर दिया था। आयेदिन फायरिंग कर गांव में दहशत फैलाना उसका शौक बन गया था। गांव में किसी की हिम्मत नहीं होती थी कि उसका विरोध करें। अभियुक्त हत्यारोपी की गिरफ्तारी न होने से दलित परिवार में दहशत व्याप्त है। परिजनों का कहना है कि हत्यारोपी इतना दबंग है कि वह वड़ा नुकसान पहुचा सकता है। थानाध्यक्ष बेवर का कहना है कि हत्यारोपी की तलाश में लगातार छापेमारी की जा रही है अतिशीघ्र ही वह कानून के सिकंजे में होगा।
रिपोर्ट – दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY