यूकेलिप्टस पेड़ों की कटाई में करोड़ों रुपये का घोटाला

0
305


चकलवंशी (उन्नाव ब्यूरो) : पूर्व सपा सरकार में क्षेत्रों के यूकेलिप्टस पेङों की कटाई हो गयी जिसको सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान में लेते हुए सपा सरकार से जवाब मांगा था जवाब में पूर्व सरकार ने हलफनामें में दर्शाया था कि हम ने पेङों की कटाई करवाई है |

इसके उपलक्ष्य में दो गुना पेड़ लगवा देगें उसके बाद क्या हुआ सरकार ने अपना विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए उत्तर प्रदेश में बबूल के पेड़ लगवा दिये मामला बहुत गम्भीर है सिर्फ कागजों पर पेड़ लगवा दिये गये और विश्व रिकॉर्ड बन गया उसके बाद भी जनपद के आलाधिकारियों की नजर नहीं पङी क्योंकि मौजूदा सत्ता थी अधिकारियों ने आंखें बंद कर ली |

क्षेत्रों के ग्रामीणों ने जानकारी दी है कि पेङों की कटाई में वन विभाग के आलाधिकारी व ठेकेदारों की मिलीभगत से करोड़ों रुपये के यूकेलिप्टस पेड़ों की कटाई हो गयी ग्रामीणों ने कहा संबंधित विभाग के अधिकारियों व ठेकेदारों की मिलीभगत से करोड़ों रुपये का बंदर-बांट किया गया ग्रामीणों ने पूर्ण बहुमत वाली बीजेपी सरकार के मुख्यमंत्री से गुहार लगाई है और इसकी जांच कराकर कार्यवाही की मांग की है। हसनगंज क्षेत्र के अंतर्गत रसूलाबाद अजगैन मार्ग पर धड़ल्ले से यूकेलिप्टस पेङों की कटाई चल रही है, यह जानकारी नई सरकार को है कि नहीं यह आने वाला समय ही बताएगा। उसके बाद भी पेङों की कटाई जारी है इस संबंधित अधिकारियों ने बताया कि यह लकङी लोड करके उन्नाव भेजी जायेगी। लोगों से प्राप्त जानकारी के अनुसार आधी लकड़ी प्रशासन के पास भेजी जाती है और आधे रास्ते में लकड़ी की अड्डों पर बिक्री कर ली जाती है और अधिकारी व ठेकेदार मिलकर अपना हिस्सा बांट लेते हैं |

क्षेत्रों में चकलवंशी संडीला मार्ग के पूरे यूकेलिप्टस पेङों की कटाई हो गयी जिसमें हजारों पेड़ों को काट कर खेल किया गया, रसूलाबाद अजगैन मार्ग पर के समस्त पेड़ों का कटान सपा सरकार में हुआ और शारदा नहर पटरी के किनारे खड़े पेड़ों का कटान किया गया है | कटान तो हो गया मगर पेड़ एक भी नहीं लगाये गये क्षेत्रों के पेड़ तो साफ हो गये नेताओं व अधिकारियों तथा ठेकेदारों की मिलीभगत से करोड़ों रुपये का घोटाला किया गया है | बीजेपी सरकार में भी वन विभाग अधिकारियों नेताओं तथा ठेकेदारों की मिली भगत से आज भी मुंशीगंज अजगैन मार्ग पर धड़ल्ले से यूकेलिप्टस पेड़ों की कटाई की जा रही है |

यह जानकारी मौजूदा सरकार को है कि नहीं यह आने वाला समय ही बताएगा। क्षेत्र के ग्रामीणों में सरोज सिंह, अनिल, राधेश्याम लोधी, अंकित, सचिन, कल्लू सिंह, गोपाल, अमित, अंनू गुरू, राजू, विपिन, मलखान, धनन्जय, बलराम आदि लोगों ने विरोध किया है कि इस संबंध में वन विभाग द्वारा जो भी यूकेलिप्टस पेड़ों की कटाई हुई है इसकी जांच होनी चाहिए। ग्रामीणों ने कहा अब देखना है कि पूर्ण बहुमत से बीजेपी जीता दर्ज की है अब यह देखना है कि योगी सरकार से जांच कराकर कार्यवाही की मांग की है।

रिपोर्ट – जीतेंद्र गौड़

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here