सुविधा के नाम पर स्कूल वाले करते हैं मजाक

0
83


कबरई(महोबा)-बच्चे तो नादान होते है।उन्हें जैसा कह दिया जाऐगा वो वैसा ही करेंगे। लेकिन हम तो अकल वाले है।हमे समझना चाहिये।कि हमारे बच्चे जिस सुविधा स्कूल मे पढ रहे है।वहाँ कि व्यवस्था वैसी चल रही है या नहीं।ऐसे कई स्कूल है जो सुविधा दिखा के उसे मजाक बना दिया है।उन्हीं स्कूलो मे से एक कबरई बाई पास मे स्थित हिन्द ऐकेडमी स्कूल है।जो कि बच्चो की सुरक्षा पर लापरवाही बरतती है।स्कूल सुविधा मे बच्चो को लाने व भेजने के लिऐ स्कूल की क्ररुजर गाड़ी है।जो बच्चो को घर से लाना व उन्हें भेजने का कार्य करती है।

लेकिन शायद स्कूल के प्रबंधक व प्राचार्य को यह जानकारी नहीं है कि उनकी इस गाड़ी मे बच्चो को कैसे लाया या कहे कि भरा जाता है।कुछ बच्चे ऐसे है जिन्हें आधे खडे होकर स्कूल तक जाना पढता है और कोई है तो ठीक से बैठ नहीं पाता है।लेकिन बच्चे क्या अपनी इस तकलीफ़ बया करें।उन बेचारो को उस चीज की तो कोई समझ नहीं होती। न माता पिता को कह पाते है। कि वह जो सुविधा के नाम पर स्कूल वालो को वह रुपऐ देते है। उन बच्चो को वह सुविधा नहीं मिलती। और न ही इस पर कोई ध्यान दे रहा। इनको थोड़ा प्रसाशन का भय है। नहीं तो ये लोग अपनी बचत के चक्कर मे गाड़ी के ऊपर भी बच्चे बिठा दे।

रिपोर्ट – जीतेन्द्र गौड़

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY