उपजिलाधिकारी ने किया डायग्नोस्टिक सेंटर का निरीक्षण

0
52


हसनगंज/उन्नाव ब्यूरो : उपजिलाधिकारी ने डायग्नोस्टिक सेंटर का आकस्मिक निरीक्षण किया , निरीक्षण में अनियमितता पाई गई साथ ही कोई डॉ. भी उपस्थित न पाया गया, साफ सफाई भी संतोषजनक नही मिली, जिस पर उपजिलाधिकारी ने संचालक को साफ सफाई रखने व डा. से बात करवाने के निर्देश दिए ।

हसनगंज तहसील मुख्यालय से महज 500 मीटर दूरी पर स्थित श्याम डायग्नोस्टिक सेंटर का शाम 4 बजे उपजिलाधिकारी हसनगंज ने आकस्मिक निरीक्षण किया जहां पर गन्दगी के साथ साथ कई अनियमितताएं मिली जिसमे अल्ट्रासाउंड करके रिपोर्ट तैयार करने वाले डॉक्टर साहब तक उपस्थित न मिले जब की जांच रिपोर्ट पर डॉक्टर वीरेंद्र के हस्ताक्षर होते है जिस पर SDM ने केंद्र संचालक श्यामल से डॉ. से फोन पर वार्तालाप कराने को कहा जिस केंद्र संचालक द्वारा बात न कराई जा सकी, न ही डॉ. से कोई सम्पर्क किया जा सका , निरीक्षण के दौरान रिसेप्शनिस्ट रूबी सिंन्ह ने बताया कि अल्ट्रासाउंड के 600 रुपये लिए जाते है और आज दिन भर में 12 अल्ट्रासाउंड किये गए हैं, जिनकी रिपोर्ट मरीज ले जा चुके है, उपजिलाधिकारी ने अल्ट्रासाउंड मसीन का निरीक्षण किया तथा पुरानी रिपोर्ट को भी देखा जिसमे देर रात के समय की रिपोर्टिंग टाइम दर्ज थी जिस पर मसीन की वर्तमान रिपोर्टिंग समय की जांच की जो कि सामान्य थी |


SDM ने डा. के आने का समय पूछा जिसपर बताया गया कि सुबह 10 से 2 बजे तक ही अल्ट्रासाउंड होता है बाकी समय मे रिपोर्ट वितरण, कलेक्शन इत्यादि किया जाता है, निरीक्षण के दिन की रिपोर्ट मांगने पर बताया गया कि सभी रिपोर्ट मरीज ले जा चुके है | जबकि निरीक्षण के दौरान ही तेगापुर निवासी अपने बेटे सुमित की अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट ओर बेटी काजल की खून की जांच रिपोर्ट लेने आ गए जिस पर केंद्र में काम कर रही महिला सहयोगी द्वारा अल्ट्रासाउंड की पर्ची गुपचुप तरीके से छिपाने की कोशिश की गई लेकिन सफल न हो सकी और जांच रिपोर्ट मांगने पर हिला हवाली कर रिपोर्ट पेश न कि गई, SDM को केंद्र में गंदगी भी मिली जिस पर उपजिलाधिकारी मनीष बंसल ने केंद्र संचालक श्यामल को साफ सफाई रखने व रिपोर्ट बनाने वाले डा0 वीरेंद्र से बात कराने के निर्देश दिए है साथ ही बताया कि डॉ. से बात करने के बाद कोई जानकारी दी जा सकेगी ।

रिपोर्ट – राहुल राठौड़

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY