घाघरा में डूबे नगर पंचायत के पूर्व चेयरमेन के इकलौते पुत्र की तलाश

0
129


बलिया,ब्यूरो : नगर पंचायत रेवती की पूर्व चेयरमैन मंजू शर्मा के इकलौते पुत्र सन्नी की दतहा मे टीएस बंधा के प्रधानमंत्री ठोकर के पास होली के दिन स्नान करते समय घाघरा मे डूबने को लेकर थानाध्यक्ष रेवती के निर्देशन में वाराणसी से आयी एनडीआरएफ के इंस्पेक्टर देवेन्द्र यादव व पीएससी बटालियन ३६ के दरोगा सुमेश्वर यादव के संयुक्त नेतृत्व में आधुनिक तकनीकी प्लास्टिक व रबड़ की नाव माश्क आक्सीजन सिलैन्डर से लैश गोताखोरों द्वारा नदी मे युवक की खोज की कवायद तीसरे दिन बुधवार को दिन भर चला। प्रथम चरण मे दतहा से तिलापुर व डुमाई घाट तक ७ किरू मीरू व पुनः दूसरे चरण मे दतहा से डुमाई घाट होते हुए मांझी तक पूरे २६ किमी यंत्र चालित मोटर बोट से गोताखोरो द्वारा नदी की तली मे खोजबीन की गयी। बाहर की टीम के आने का समाचार सुनते ही नगर व घाघरा दियरांचल के हजारो ग्रामीणो का हुजुम व सैलाब दतहा उमड़ पड़ा।

घाट पर दिन भर बना रहा जनता का दबाव
बतातें चले कि नगर पंचायत रेवती की पूर्व चेयरमेन श्रीमती शर्मा का इकलौता पुत्र सन्नी २० वर्ष अपने पड़ोस के शिवमंगल चौरसिया के पुत्र रामबाबू १८ वर्ष तथा चार अन्य युवको के साथ दो बाइको से दतहा मे होली के दिन स्नान करने गया था। ‘स्नान करते समय गहरे पानी मे सन्नी व रामबाबू डूब गये। राम बाबू का शव उसी दिन एक घंटे के प्रयास पर स्थानीय गोताखोरो द्वारा निकाल लिया गया, किन्तु लगातार दो दिन के प्रयास के बाद स्थानीय गोताखोरो के असफल होने पर तीसरे दिन बुधवार को एनडीआरएफ व पीएससी वाराणसी के टीम मे आये गोताखोरो द्वारा खोज का अभियान चलाया गया, परंतु सफलता नहीं मिली।

रिपोर्ट–संतोष कुमार शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY