सुरक्षा मानकों की धज्जियां उड़ाकर गिराई जा रही थी बिल्डिंग

0
63

लालगंज/रायबरेली (ब्यूरो)- सुरक्षा मानकों को दर-किनार करके रायबरेली के लालगंज में पुरानी गल्ला मंडी स्थित एक बिल्डिंग को गिराने का काम किया जा रहा था | बिल्डिंग को गिराते समय चूँकि सुरक्षा के किसी भी प्रकार के इंतजाम नहीं किये गए थे| जर्जर बिल्डिंग अचानक से नीचे आ गिरी जिसके चलते बिल्डिंग के नीचे काम कर रहे कई मजदूर दब गए | जिनमें से दो की हालत गंभीर बनी हुई है |

कभी जलवेदार था दीक्षित भवन-
एक जमाने में आलीशान कोठी के रूप में पहचान बनाने वाले दीक्षित भवन में मकान मालिक का पूरा परिवार कई किराएदार और दर्जनों दुकानों की रौनक रहा करती थी | एक ट्रांसपोर्ट कंपनी का भी यहीं से संचालन होता है परिवार में विभाजन के बाद नई पीढ़ी ने लखनऊ में रहना शुरु कर दिया । कोल्ड स्टोर के ऑफिस तक आना जाना ही बचा । रखरखाव के अभाव में बिल्डिंग जर्जर होती गई, हालांकि दुकानें और व्यवसायिक किरायेदारों को नहीं हटाया गया व्यावसायिक कॉम्प्लेक्स बनाने के लिहाज से काफी दिनों से इस पुराने भवन को तोड़ा जा रहा था।

पुराने रसूखदारों ने सुरक्षा मानकों की परवाह करना कतई जरूरी नहीं समझा | भरे बाजार तोड़फोड़ जारी थी लेकिन मलबे को सुरक्षित निस्तारित करने और सुरक्षावाल को बनाने जैसा कोई प्रबंध नहीं किया गया था | कमाल तो यह कि इस अधगिरे भवन में अभी तक कई दुकानें चलाई जा रही हैं | कभी भी किसी प्रकार की अनहोनी हो सकती हैं। सुरक्षा की इस बड़ी चूक की तरफ किसी का ध्यान नहीं गया | जिम्मेदारों ने किसी प्रकार की रोक टोक की जरूरत ही नहीं समझी | आज जब अचानक बिल्डिंग का बड़ा भाग भरभराकर गिर गया और कई मजदूर उसमें दब गए तो लोगों ने दौड़कर राहत और बचाव का काम शुरू किया। लंबे चौड़े दावे करने वाले स्वास्थ्य विभाग की एंबुलेंस भी बड़े लंबे इंतजार के बाद ही मौके पर पहुंची | खबर लिखे जाने तक दो मजदूरों की हालत गंभीर बनी हुई है | जिला अस्पताल में इनका इलाज चल रहा है।

घायलों की माली हालत है दयनीय-
दीक्षित भवन के मलबे में दबने वाले हीरा पुत्र सुंदर लाल निवासी मलपुरा व संतराम पुत्र राममनोहर निवासी पूरे नया सोंडासी की हालत गंभीर है, साथ ही बिल्डिंग में कार्यरत छोटेलाल व राममनोहर निवासी पूरे नया सोंडासी भी घायल हुए है । मजदूरों की माली हालत काफी खराब है, दवा इलाज के खर्च का बोझ उठाना उनके लिए बहुत मुश्किल जान पड़ता है । कुदरत की दोहरी मार देखिए मेहनत मजदूरी करके घर परिवार का खर्च ढोने वाला शरीर भी इस बिल्डिंग में दबकर घायल हो गया ।

मदद करने का भरोसा दिलाया –

जिला श्रम अधिकारी विनोद कुमार शर्मा ने कहा कि मामला संज्ञान में आया है, जरूरी सहायता देने की पूरी कोशिश की जाएगी, वहीं भवन के मालिक प्रशांत दीक्षित ने भी मजदूरों की मदद का भरोसा दिया।

रिपोर्ट- अनुज मौर्य

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY