न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता रवि तिवारी को बदमाशों ने गोली मारकर की हत्या

0
109

शिवली/कानपुर देहात(ब्यूरो)- रविवार को इलाहाबाद के होलागढ़ थाना क्षेत्र में न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता रवि तिवारी उर्फ राहुल की अज्ञात बदमाशों द्वारा गोलियों से छलनी कर निर्मम हत्या किए जाने पर प्रदेश के वकीलों में आक्रोश व्याप्त है। एक के बाद एक हो रही वकीलों की हो रही निर्मम हत्याओं सूबे में जगह जगह विरोध प्रदर्शन के साथ अधिवक्ताओं में रोष व्याप्त है।

दोषियों को चिन्हित कर जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग कर फांसी की सजा दिये जाने की मांग करते हुए सोमवार को कानपुर देहात जनपद की तहसील मैथा परिसर में लायर्स एशोसिएशन के पदाधिकारी वकीलों ने भपेंद्र सिंह की अगुवाई में शोक सभा आयोजित कर 2 मिनट मौन रखकर सैकड़ो वकील साथियों के साथ कैंडिल मार्च निकाल अधिवक्ता साथी स्वर्गीय रवि तिवारी उर्फ राहुल को भावभीनी श्रद्धांजलि दी और न्यायिक कार्य से विरत रहकर काम काज बंद रखा और 50 लाख रुपये मुवावजे की दिया जाये और हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तार कर फांसी देने की मांग करते हुए तहसीलदार अजय कुमार सिंह को मुख्यमंत्री के नाम संबोधित 5 सूत्रीय ज्ञापन सौपते हुए जमकर नारेबाजी की।

शुक्रवार को तहसील मैथा में लायर्स एशोसिएशन के पदाधिकारी वकीलों ने इलाहाबाद में हत्यारों की गोलियों से छलनी हुए अधिवक्ता रवि तिवारी की हुई निर्मम हत्या को लेकर आक्रोश व्याप्त रहा और दिन भर वकीलों ने काम काज बंद रख वकीलों के जत्थे ने तहसील परिसर में घूम घूम कर पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए खूब खरी खोटी सुनाते हुए विरोध प्रदर्शन कर रोष जाहिर किया और मुख्यमंत्री के नाम संबोधित 6सूत्रीय ज्ञापन तहसीलदार अजय कुमार सिंह को सौपते हुए घटना का पर्दाफाश कर हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की ।

इस दौरानअधिवक्ता भूपेंद्र सिंह ने आयोजित शोक सभा को संबोधित करते हुए कहा प्रदेश में अपराधियों का राज है इलाहाबाद जैसे पाश इलाके में वरिष्ठ अधिवक्ता रवि तिवारी की निर्मम हत्या कर दी।सूबे में अपराधी निरंकुश है 3माह में 56 हत्याये हो चुकी है प्रदेश में गुंडा राज चल रहा आये दिन पत्रकारों वकीलों पर हमलें हो रहे और उनकी हत्यायें हो रही प्रदेश में फर्जी मुकदमे दर्ज हो रहे तो कही अधिवक्ता साथियों पर गोलियां चलाकर निर्मम हत्या की जा रही कार्यवाही के नाम पर सिर्फ कोरी बयान बाजी हो रही हत्यारे पुलिस की पकड़ से कोसो दूर है पुलिस हवा में हाथ पैर मार रही है।

हत्यारों की गोलियों के शिकार वकील रवि तिवारी उर्फ राहुल का परिवार बुरी तरह सदमे में है और भयभीत है। उन्होंने सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ से परिजनों को सुरक्षा के साथ साथ 50 लाख रुपये सहायता राशि देने माँग की और उन्होंने आये दिन सूबे में वकीलों पत्रकार साथियों की हो रही निर्मम हत्यायों को लेकर शासन प्रशासन की नीतियों रीतियों पर भी प्रश्नचिन्ह लगाते हुए कहा कि जब समाज के प्रमुख स्तंभ कहे जाने वाले जिम्मेदार लोगों पर हमले हो रहे वह सुरक्षित नहीं है और उन्हें जान गवानी पड़ रही है तो फिर सूबे में आम जनमानस के क्या हालत होंगे इसका सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है शासन से पुलिस के पेंच कसने की भी अपील करते हुए पुलिस की कार्यशैली में सुधार लाने की आवश्यकता बतायी।

उन्होंने कहा कि यदि समय रहते पुलिस चेत जाये तो न जाने कितनी छोटी मोटी घटनाएं जघन्य घटनाओं का मूर्त रूप न ले और उन पर अंकुश लगाया जा सके।सर्व श्री सिंह ने खुले स्वर से घटना की निंदा करते हुए रोष व्यक्त किया और मृत वकील साथी रवि तिवारी के परिजनों को सुरक्षा के साथ साथ 50 लाख रुपये आर्थिक सहायता देने की मांग करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर फांसी की सजा देने की मांग की।

इसके साथ साथ कई अधिवक्ता साथियों ने भी विरोध प्रकट करते हुए विचार व्यक्त किए।आयोजित शोक सभा के दौरान प्रमुख रूप से एडवोकेट प्रेमचंद वर्मा विनोद अवस्थी विजय मिश्र कोषाध्यक्ष अंकित सिंह चंदेल प्रमोद कुमार देवेंद्र सिंह राजीव कुमार दीक्षित उमाकांत त्रिपाठी अशोक कुमार गौतम विवेक सिंह भदौरिया विजय दीक्षित कृष्ण कुमार शर्मा अनुराग स्वर्णकार रविकांत कमल महावीर विजय सिंह राम नरेश सिंह यादव विनीत शुक्ल कपिल सिंह विजय सिंह शिवम वर्मा आनंद कुमार घनश्याम राजपूत मुकेश कुमार शिव कुमार अजीत अखिलेश कुमार सहित दर्जनों अधिवक्ता गण उपस्थित रहे।एडवोकेट रामप्रताप सिंह चौहान ने कार्यक्रम का बखूबी संचालन किया।

रिपोर्ट – अजिप्रताप सिंह/अनुज पाण्डेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here