पावरग्रिड का तार जोड़ते समय हाई टेंशन लाइन की चपेट में आने से एक दिहाड़ी मजदूर गम्भीर

0
70

खीरों/रायबरेली(ब्यूरो)- विद्युत उपकेन्द्र खीरों के अन्तर्गत अधारखेड़ा में गुरुवार की दोपहर पावरग्रिड का तार जोड़ते समय हाई टेंशन लाइन की चपेट में आने से एक दिहाड़ी मजदूर गम्भीर रूप से घायल हो गया । परिजनों द्वारा उसे सीएचसी खीरों पहुंचाया गया । जहाँ से नाजुक हालत में उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया । अवर अभियन्ता और उप केन्द्र के कर्मचारियों की लापरवाही से घटी इस घटना से ग्रामीणों में व्यापक आक्रोश है । इधर घटना हो जाने के बाद जेई खीरों ने यह कहते हुये अपना पल्ला झाड लिया कि कैलाश मेरे उपकेन्द्र का संविदा कर्मी ही नहीं है ।

कैलाश पुत्र सुखराम लोधी ने बताया कि मेरे ही गाँव की पावर ग्रिड की लाइन का तार टूटा होने के कारण सोमवार से अधारखेड़ा की आपूर्ति बन्द थी । ग्रामीणों ने कई बार उपकेन्द्र खीरों में शिकायत दर्ज कराई लेकिन लाइन ठीक नहीं हुई । गुरुवार की दोपहर अवर अभियंता खीरों रामनाथ से ग्रामीणों द्वारा फोन पर सम्पर्क किया गया । जेई ने मुझसे कहा कि शट डाउन दे दिया गया है तार जोड़ दो । मैं जैसे ही खम्भे पर चढ़ कर ट्रांसफार्मर से तार जोड़ने लगा । इतने में आपूर्ति चालू हो गई और मैं गम्भीर रूप से झुलस कर खम्भे से नीचे गिर गया । परिजनों ने ग्रामीणों की मदद से घायल को सीएचसी खीरों पहुंचाया । जहाँ से नाजुक हालत में जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया ।

ग्रामीण धर्मेंद्र, दर्शन लाल आदि ने बताया कि जेई खीरों रामनाथ के साथ ही संविदाकर्मी फूलचन्द्र से भी हम लोगों ने बात किया तो उन्होने कहा कि कैलाश से लाइन ठीक करा लो । कैलाश तार जोड़ रहे थे तभी आपूर्ति चालू कर दी गई । जिससे कैलाश गम्भीर रूप से झुलस कर खम्भे से नीचे गिर गया। इस घटना से ग्रामीणों में व्यापक आक्रोश है । ग्रामीणों और परिजनों ने विभागीय अधिकारियों से घटना की जांच कराकर दोषियों को दंडित करने और घायल दिहाड़ी मजदूर को मुआवजा दिलाने की मांग की है । अधिशाशी अभियंता पी के सिंह ने बताया कि इस मामले में जेई रामनाथ से पूछा गया तो उन्होने बताया कि घायल व्यक्ति उपकेन्द्र का संविदा कर्मी नहीं है । मामला संज्ञान में नहीं है । फिर भी मामले की जांच कराकर कार्यवाही की जाएगी ।

रिपोर्ट- आशीष शुक्ला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here