पुण्यतिथि पर याद किये गए शहीद अनिल सिंह

प्रतापगढ़ (ब्यूरो) – 19 वर्ष पूर्व 11 अगस्त 1999 को सीमा सुरक्षा बल में तैनात प्रतापगढ़ की रानीगंज तहसील की खरवई ग्राम सभा के निवासी अनिल कुमार सिंह माँ भारती की रक्षा करते हुए करगिल के राजौरी सेक्टर में शहीद हुए थे । उनके 20वें बलिदान दिवस पर क्षेत्रीय समाज ने खरवई ग्राम सभा स्थित उनके स्मारक स्थल पर भांरी संख्या में पहुँचकर उनको याद करते हुए श्रद्धाजंलि अर्पित की । श्रद्धाजंलि सभा की शुरुआत शहीद अनिल सिंह की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर माल्यार्पण के साथ हुई । खरवई ग्राम सभा के दो सेवानिवृत्त सैनिकों बृजेंद्र सिंह एवं संतोष सिंह जी ने शहीद अनिल कुमार सिंह के बड़े भाई राम बरन सिंह के साथ मिलकर पुष्प अर्पित किये । शहीद अनिल सिंह के परिवार की महिलाओं ने भी उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उनको श्रद्धाजंलि दी ।

श्रद्धाजंलि सभा में शहीद अनिल सिंह को याद करते हुए उनके बड़े भाई श्री राम बरन सिंह जी अत्यंत भावुक हो गए । उन्होंने रुंधे गले से अपने जांबाज़ भाई के बचपन की बातें साझा की । उन्होंने बताया कि अनिल का बचपन से ही खेलकूद , सेवा और सैनिकों के प्रति विशेष लगाव था । पहले ही प्रयास में वो सीमा सुरक्षा बल में चुन लिए गए थे । जब भी गाँव आते थे , हर एक घर में जाकर सभी गाँव वालों से कुशल क्षेम अवश्य पूछते थे । श्री राम बरन सिंह ने कहा कि भले ही मैं उम्र में अनिल से बड़ा हूँ , लेकिन मैं खुद को सदा उनसे छोटा ही मानूंगा । उन्होंने कहा कि उनको गर्व है कि उनका भाई देश की सेवा करते हुए माँ भारती के चरणों में सोया ।। शिक्षक  श्री अरुण प्रताप सिंह ने कहा कि खरवई ग्राम सभा के प्रवेश द्वार को शहीद अनिल सिंह के नाम से बनवाने की स्वीकृति क्षेत्रीय विधायक श्री धीरज ओझा जी ने दे दी है ।

साथ ही खरव्ई को हाईवे से जोड़ने वाले मार्ग का नामकरण भी शहीद अनिल सिंह के नाम पर करने की भी मंज़ूरी मिल चुकी है । जांबाज़ हिंदुस्तानी सेवा समिति के अध्यक्ष श्री आलोक आज़ाद ने अपने बचपन के मित्र शहीद अनिल सिंह को याद करते हुए कहा कि अनिल के अंदर बचपन से ही देश और देश सेवा के प्रति विशेष लगाव था । वो अपने तमाम साथियों और बच्चों के लिए प्रेरणा करते थे । उन्होंने अनिल सिंह की प्रतिमा के जीर्णोद्धार की बात रखी । श्रद्धाजंलि सभा की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ समाजसेवी बाबू राम लखन जी ने कहा कि शहीद अनिल सिंह जी माँ भारती की सेवा करते हुये अमर हो गए । उनकी स्मृति में क्षेत्र में निरंतर कोई न कोई सामाजिक ,राष्ट्र-परक एवं खेलकूद प्रतियोगिताएं होनी चाहिए जिसका सभी उपस्थित जनों ने समर्थन किया ।

शहीद अनिल सिंह के भतीजे श्री अमित सिंह  अपने चाचाजी को याद करते हुए भावुक हो गए और उन्होंने बच्चों , किशोरों और युवाओं को शहीद अनिल सिंह के जीवन से प्रेरणा लेने की बात कही । श्रद्धाजंलि सभा में खरवई प्रधान प्रतिनिधि श्री त्रिभुवन सिंह, धर्मेंद्र सिंह ,विजय शंकर सिंह, पारस नाथ तिवारी मल्हूपुर प्रधान प्रतिनिधि श्री अनुराग मिश्र,  बाबू विक्रम सिंह विश्वनाथ प्रजापति , एडवोकेट योगेश सिंह , प्रदीप मिश्र मंसूर अहमद , राम आसरे मौर्य आदि ने भी शहीद अनिल सिंह को याद करते हुए अपने विचार रखे । श्रद्धाजंलि सभा का संचालन इंडिया अगेंस्ट पॉलीथीन के संयोजक श्री आलोक तिवारी ने किया । सभा का समापन सामुहिक श्रद्धाजंलि एवं राष्ट्रगान के साथ हुआ । श्रद्धाजंलि सभा में राहुल सिंह , योगेश सिंह , शैलेंद्र, रणजीत सहित तमाम युवा बीच बीच में  शहीद अनिल सिंह अमर रहे के नारे लगाते रहे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here