भ्रष्टाचार के मामले में शर्मा पर हो सकती है बड़ी कार्रवाई

0
185

ED
देहरादून: पावर ट्रांसमिशन आफ उत्तराखंड (पिटकुल) के पूर्व अधीक्षण अभियंता एवं डीजीएम विकास शर्मा की मुश्किलें बढ़ सकती है। प्रवर्तन निदेशाल (ईडी) ने मामले का संज्ञान लेते हुए शर्मा पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरू कर दी है। ईडी ने काशीपुर-श्रीनगर 400 केवी ट्रांसमिशन लाइन के सर्वे को लेकर विभाग से आवश्यक दस्तावेज तलब किए हैं। सूत्रों की मानें तो ईडी की जांच के बाद अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। इस जांच के बाद पिटकुल में  भ्रष्टाचार के और मामले में खुलने की आशंकाएं जताई जा रही है। ईडी के पत्र ने अधिकारियों की नींद उड़ा ली है।

बता दें कि विकास शर्मा पिछले लंबे समय से पिटकुल में घपले-घोटालों के लिए चर्चित अधिकारी रहे हैं। उन पर भ्रष्टाचार के कई आरोप है। यह मामला तब का है जब वह काशीपुर में अधीक्षण अभियंता के पद पर कार्रयत थे। काशीपुर-श्रीनगर 400 केवी लाइन के सर्वे में ज्योति स्ट्रक्चर से गलत तरीके से सर्वे कराकर करोड़ों रूपये का भुगतान कर लिया था। लेकिन बता में इसमें अनियमितता पाई गई। विभाग जांच में दोषी पाए जाने पर तत्कालीन प्रबंध निदेशक ने विकास शर्मा को अधीक्षण अभियंता के पद से रिवर्ट किया गया। फिलहाल वह पिथौरागढ़ में अधिशासी अभियंता के पद पर कार्रयत हैं।

लेकिन लंबे समय बाद इस मामले को लेकर अब ईडी ने शिकायत के बाद जांच शुरू कर दी है, जिसके बाद फिर विकास शर्मा पर कार्रवाई होनी तय है। हालांकि इस मामले को लेकर शर्मा ने हाईकोर्ट में भी याचिका दायर की है। हाईकोर्ट के निर्देश के बाद बीते रोज एमडी एसएन वर्मा ने निगम की बोर्ड बैठक बुलाई। बैठक में शर्मा के पक्ष को पूरी तरह सुना गया, जिसकी रिकार्डिंग भी कराई गई है। एमडी एसएन वर्मा ने बताया कि शर्मा के पक्ष के साथ ही बोर्ड के निर्णय को कोर्ट भेजा जा रहा है। कोर्ट का जो भी आदेश होगा उसके मुताबिक अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

रिपोर्ट – शादाब

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here