शासन के एक संयुक्त निदेशक के निरिक्षण पर कमियां उजागर हुई

0
121


उन्नाव : तहसील मुख्यालय के नगर पंचायत न्योतनी में स्थित आईटीआई विभाग में अव्यवस्था के चलते प्रशिक्षण ले रहे, छात्र छत्राओ को मुसीबत से गुजरना पड़ रहा है , आईटीआई विभागीय अधिकारियो द्वारा कमियो को जान कर भी कागजी आंकड़ो पर सेटिंग गेटिंग का खेल कर रहे है, मीडिया कर्मियो द्वारा जानकारी लेने पर आईटीआई विभाग के जे. डी. ने बौखलाहट में मीडिया पर कार्यवाही करने की धमकी दी ।

शुक्रवार को हसनगंज के न्योतनी में स्थित शासन द्वारा संचालित आईटीआई की लचर व्यवस्था तब सामने आई जब शासन के एक संयुक्त निदेशक के निरिक्षण पर कमिया उजागर हुई , अपरान्ह 12 बजे आईटीआई संयुक्त निदेशक के आईटीआई प्रशिक्षण संस्थान में पहुचने पर प्रतक्ष्य कमिया नजर आई लेकिन उसके बाद संयुक्त निदेशक ने चाय नास्ता करने के बाद कागजी आंकड़ो पर भरोसा करके कमिया मिलने पर भी सब कुछ ठीक बताया , लेकिन कई प्रशिक्षण ले रहे छात्रो ने नाम न छापने की शर्त पर संस्थान की पोल खोलते हुए आरोप लगाया की कई वर्षो से तीन सैकड़ा से अधिक छात्रो को सिर्फ दो प्रशिक्षक ही प्रशिक्षण दे रहे थे और कागजी कोरम पूरा होता रहाआर टी विभाग के परीक्षण संस्था में चल रही अनिमयक्तियो के चलते मनमाने ठंग से पास को फेल फेल को पास करने की मुक्तिहर खेल रहे हैं सत्र 2013,14 में कम्प्यूटर इलेक्ट्रानिक हेड में प्रसिक्षण कर रहे विशाल दीप मोर्य ने आरोप लगाया की 2013,14 में परीक्षा देने के बावजूद पास का रिजल्ट लेकिन 3 साल बाद आज तक मार्कसीत नही मिल पाई इसी सत्र में फेल हुवे सर्वेश कुमार,संदीप कुमार मोर्य व सुभाष कुमार गौतम ने तीन बार बैक परीक्षा दी लेकिन अंक तालिका पर लिखे नम्बरो में कोई परिवर्तन नही हुआ और जैसे के तैसे इस समस्या के समा धान के लिये आई टी आई विभाग के अधिकारियो की कई बार शिकायत प्राथर्ना पत्र भी दिया लेकिन पीड़ित छात्रो की समस्या किसी ने ध्यान नही अब तक नही दिया कागजो पर चल रही समस्याएँ छात्र छात्रो के प्रशिक्षण मे बाधक बनी हुवी है जिससे प्रशिक्षण के बाद भी नोकरियो मे मुसीबत उठानी पड़ रही है शिक्षा सत्र समाप्त होने के अन्तिम चरण मे है लेकिन आई टी आई संस्थान मे प्रशिक्षण यन्त्र के कमरे का ताला तक खुला नही मिला ताला के न खुलने के सवाल पर सभी अधिकारी साध गये संस्थान मे कितने छात्र छात्रएं है इसकी भी सही जानकारी प्रधानाचार्य द्वारा नही बताई जा सकी , सुविधाओ के नाम पर आईटीआई विभाग के अधिकारी छात्र छात्राओ का शोषण कर लाखो का चूना लगा रहे है संस्थान में पानी पीने के नाम पर सिर्फ एक ही हैण्डपाइप है जिसमे फ्लोराइड युक्त पानी आता है जिससे शुद्ध पानी पीने के लिए छात्र छात्राओ को भटकना पड़ता है मजबूरीवस् घर से शुद्ध पानी ले जाकर अपनी प्यास बुझाई जाती है

संयुक्त निदेशक राजेश ने मीडिया कर्मी के सवाल से झल्लाकर कहा कोई कमी नही है सब ठीक है अभी शिक्षा सत्र में दो महीने बाकी है इतने दिनों में छात्र यंत्र देकर परसिक्षित कर दिया जाएगा , और साथ ही मीडिया कर्मी को धमकी देते हुए कहा की ज्यादा सवाल जवाब करोगे तो कार्यवाही कर दूंगा।

रिपोर्ट – राहुल राठौर हसनगंज

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here