शिक्षा का मूल उद्देश्य वैचारिक उत्थान

0
155

प्रतीकात्मक
प्रतीकात्मक

समस्तीपुर : जिले के दलसिंहसराय शहाबुद्दीन हसन टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज में देश में शिक्षा, कला, शिक्षा, शिक्षिकाओं, शिक्षार्थियों एवं नागरिकों का शिक्षा के मूल तत्व स्पष्ट करते हुए हसन इमाम द्वारा लिखित एवं वीर द्वारा निर्देशित नाटक (खोजक मध्य) से हुआ । इस नाटक में भाग लेने वाले सभी कलाकार अल हसन टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज के छात्र एवं छात्राएं मंचन खुशबू, रानी , सुप्रिया, रागिनी, अमित ,अभिषेक, प्रभात, अली हुसैन, जयप्रकाश, पूनम, संगीता एवं राकेश ने भाग लिया। कार्यक्रम के दूसरे चरण में समकालीन शिक्षण में कला और समाज का अनंत संबंध समाज निर्माण में शिक्षक एवं शिक्षार्थीयों की भूमिका के विषय पर सेमिनार हुआ । जिसमें मुख्य वक्ता हसन इमाम जो देश के प्रसिद्ध रंगकर्मी नाटककार लेखक एवं प्रेरणा के सचिव हैं । समता राय देश के जाने-माने रंगकर्मी समाजिक कार्यकर्ता एवं सांस्कृतिक संगठन के सचिव कला शिक्षा एवं समाज के अंतर संबंध को स्पष्ट करते हुए नौजवानों की भूमिका को सबसे महत्वपूर्ण बताया है ।

मौके पर उपस्थित समाज सेवी आलोक कुमार मिश्रा भी अपनी बात रखी इस कार्यक्रम का संचालन सर्वेश कुमार ने किया वहीं अध्यक्षता महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर अब्दुल रहमान अंसारी के द्वारा की गयी । इस कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन अविनाश कुमार के द्वारा किया गया, तथा इस कार्यक्रम नें महाविद्यालय के सभी शिक्षक प्रोफेसर अमोद कुमार सिन्हा, प्रोफेसर दिव्यांशु शेखर, प्रोफेसर लक्ष्मी, प्रोफेसर रीना कुमारी, प्रोफेसर संदीप कुमार, दीपक कुमार झा, प्रोफेसर संतोष कुमार, फैसल इमामुद्दीन एवं महाविद्यालय के प्रबंधकों में मशहूर अख्तर तथा कर्मचारी मोहम्मद हसीन की महत्वपूर्ण भूमिका रही । कार्यक्रम में मौजूद महाविद्यालय के सभी छात्र और छात्राएं जिला के प्रमुख बुद्धिजीवी एवं सैकड़ों नागरिकों ने हिस्सा लिया ।

रिपोर्ट – रंजीत कुमार

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY