परीक्षाओं में नकल के लिए शिक्षा माफिया भिड़ा रहे जुगत

0
127

मैनपुरी। माध्यमिक परीक्षा होने में अभी दो सप्ताहों की देर है जहाँ प्रशासन हर रोज नकलमुक्त परीक्षा कराने के लिए मतगणना के साथ ही रोज नया ब्लूप्रिन्ट बनाने में लगा है वहीं शिक्षा माफिया और नकल माफिया अपने छात्रों को लाभ पहुॅचाने के लिए नकल के नए तरीके इजाद करने में लग गये हैं। वहीं अपनी सेटिंग के कक्ष निरीक्षक भी स्कूलों में अपनी ड्यूटी के लिए सम्पर्क साध रहे हैं।
बेदाग मतदान कराकर मतगणना के लिए पूरी ताकत लगाए जिलाधिकारी सी0पी0 सिंह और पुलिस अधीक्षक कमल सक्सेना माध्यमिक परीक्षाओं के लिए पूरी तरह सतर्क दिख रहे हैं। उन्होंने शिक्षाधिकारियों की बैठक में स्पष्ट कर दिया है कि जिस परीक्षा केन्द्र पर नकल होती पायी गयी और सबूत मिले वह शिक्षा केन्द्र भविष्य में परीक्षा केन्द्र नहीं बन पायेगा तथा अध्यापकों को भी इंगित कर दिया गया है कि किसी प्रकार परीक्षा केन्द्रों में नकल अथवा अनुचित साधन प्रयोग में न लाने दिया जाये। इससे नकल माफियाओं के काफी होश उड़े हुए हैं। प्रशासन ने पहले ही परीक्षाओं में नकल के लिए बदनाम रहे परीक्षा केन्द्रों को काली सूची में डाल दिया है इसके बाद भी तमाम परीक्षा केन्द्र साम-दाम-दण्ड-भेद के चलते शिक्षाधिकारियों की मिलीभगत से परीक्षा केन्द्र बना दिये गये हैं। यहाँ अपनी ड्यूटी लगवाने के लिए तमाम चर्चित शिक्षक और कक्ष निरीक्षक परीक्षा केन्द्रों के प्रभारियों और शिक्षाधिकारियों से सम्पर्क साध रहे हैं कि उन्हें किसी कमाऊ परीक्षा केन्द्र पर ड्यूटी लगा दी जाए जिससे वह अपने चहेतों को नकल करवा सकें परन्तु प्रशासन भी ऐसे लोगों को इस बार जेल के सीखचों और कानूनी हत्कण्डों में फांसने के लिए बचनवद्ध हो गया है।
रिपोर्ट – दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here