समाज की कैसी भी समस्या को अपनी मानकर सुलझवाते हैं, समाज सेवी शिवा त्रिपाठी

0
83

औरैया/बेला ब्यूरो आदमी अगर चाहे तो क्या नहीं हो सकता है।जुनून और जज्बा आदमी के अंदर काबिलियत का तूफान ला देता है। ऐसी ही जुनूनीयत से लबरेज है बिधूना तहसील के एक छोटे से गांव के बाशिंदे समाज सेवी और भाजपा नेता शिवा त्रिपाठी जो कि आज किसी परिचय के मोहताज नहीं  है। शिवा ने गरीब और असहाय व्यक्तियों की मदद ऐसे समय पर की जब वाकई उनको उस मदद की जरूरत थी।

बाधमऊ ग्राम पंचायत में पांच गांवों क्रमशः बाधमऊ, प्यारी पुर्वा, धन्ना पुर्वा, दुजे पुर्वा, शकरपुर में विकास के नाम से पिछली पंच वर्षीय से विकास के नाम पर कार्य नाम मात्र ही हुए हैं, विकास कार्य ना होने के कारणों का पता लगाने के लिये युवा समाज सेवी शिवा त्रिपाठी ने योगी सरकार की चलाई जा रही शिकायत निवारण योजनाओं के तहत शिकायतें करके ग्राम पनचयात बाधमऊ के विकास के लिये एक नयी आशा उत्पन्न हुयी है | बाधमऊ को छोड़कर अन्य चारों गावों मे आजादी के बाद अंधेरा मिटाने के लिये शिवा त्रिपाठी ने उर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा जी को टि्वटर के माध्यम से शिकायत की जिसके बाद असर होना शुरू हुआ और इन गांवों के अंधेरे को मिटाने के लिये बीजेपी सरकार के ऊर्जा मंत्री ने मेल पर पूरी जानकारी लेकर अंधेरे को मिटाने के लिये मेरा साथ देने का भरोसा दिया | इसके बाद मैने मुख्यमंत्री जी के द्वारा शुरू की गयी जनसुनवाई पर गाँव के विद्युतीकरण को लेकर शिकायत दिनांक 24.07.2017 को मुख्यमंत्री जी को की जिसकी निस्तारण तिथि 24.08.2017 से पहले ही कल दिनांक 08.08.2017 को निस्तारण करके आख्या सम्बंधित अधिकारियों द्वारा प्रस्तुत की गयी | इससे पहले युवा समाज सेवी शिवा त्रिपाठी ने गाँव के विकास के लिये कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं, बीपीएल की पात्र अपात्र सूची की भी जांच कराकर गाव के पात्रों का बीपीएल में नाम जोड़कर एक मिसाल कायम की है बाकी जिन कार्यो को अधिकारियों द्वारा अभी तक अमल में नहीं लाया गया है जल्द ही मुख्यमंत्री के दरबार में जाकर आवाज उठाऊंगा |

पहले से दी गयी प्रार्थना पत्रों से मुख्यतः ग्राम बाधमऊ में प्राईमरी स्कूल के मेनगेट के दरवाजे सहित स्कूल की एक तरफ की बाउंड्री पूरी तरह से टूटी पड़ी है, वहीँ गाव के जूनियर हाईस्कूल मे पिछले कयी सालो से हर कमरे थे दरवाजे टूटे पड़े है, फर्नीचर है पर बच्चे जमीन पर बैठ कर पढाई करते है स्कूल के आप पास वर्षांत की पानी भरा होने के कारण खरपतवार ऊग आया है जिससे जहरीले जीव जंतु होने की भी आशंका है जिससे कभी भी कोयी बडा हादसा हो सकता है बाधमऊ मे ही एक पशु अस्पताल है पर पूरी तरह से जर्जर है कब गिर जाये कोयी पता नही.. गाव मे एएनएम सेन्टर है पर एएनएम का पता नही बल्कि उस एएनएम सेन्टर मे गाव के गरीबों का आशियाना बनने लगा है, गाँव में पिछले 10 सालों से कुछ काम छोड़कर कोई विकास कार्य शुरू नहीं हुआ है ।

रिपोर्ट –  शिवा त्रिपाठी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY