सारे बैर भुला अखिलेश ने शिवपाल को दिया मौक़ा, किया शिवपाल यादव की सीट का ऐलान

0
188

shivpal
इटावा : मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव ने एलान किया है कि वे जसवंतनगर सीट से ही चुनाव लड़ेंगे। हालांकि उन्होंने पार्टी के बारे में कुछ नहीं कहा। इसे लेकर हलचल तेज हो गई है। सैफई में आज उन्होंने कहा कि यहां मौजूद लोग जहनी तौर पर सावधान हो जाएं तभी वह अपना और हम सब का कुछ भला कर सकते हैं अन्यथा उनको एक बार फिर से धोखे का सामना करना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि सब्र से काम लेने की जरूरत है सफलता आपके सामने है। जिस तरीके से 2012 में उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक एक लाख 33 हजार मतों से जसवंतनगर विधान सभा जीते थे इस बार तो फिर सावधान रहने की जरूरत है और इस बार उससे अधिक वोटों से जीत हासिल होगी। उन्होंने कहा कि नेता जी ने कहा था कि हम पार्टी को नहीं टूटने देंगे और हकीकत में पार्टी नहीं टूटी है।

समाजवादी पार्टी में थम चुके घटनाक्रम के बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव गुरुवार दोपहर अपने गृहनगर सैफई पहुंचे। उन्होंने बिना नाम लिये समाजवादी पार्टी के हाल के घटनाक्रम का ज्रिक करते हुए कहा कि आज जो कुछ भी समाजवादी पार्टी में हुआ है वह सब भितरधातियों की करतूत का ही परिणाम है लेकिन इससे घबराने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने चुनाव तो अपनी परपंरागत सीट से लड़ने का ऐलान किया लेकिन दल का ऐलान नहीं किया इसको लेकर कई तरह के कायस लगाये जा रहे हैं।

सैफई पहुंचने के बाद उन्होंने अपने पिता सुधर सिंह के नाम पर बने एसएसमैमोरियल स्कूल परिसर में अपने करीबी समर्थकों को संबोधित करते हुए साफ शब्दों में कहा कि चुनाव का माहौल हैएचुनाव की शुरुआत हो चुकी है। 24 जनवरी से 31 जनवरी तक नामांकन होगा। 19 फरवरी को वोटिंग होगी। यहां जितने भी लोग मौजूद हैं। वह सभी चीजों से बूखबी वाकिफ है। हम इन सब चीजों को उजागर नहीं करना चाहते हैं कि क्या क्या हो रहा इस समय आप सभी जानते है फिर भी कोई बात नहीं।
उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी कैसे खड़ी की गई है आप सब लोगों ने देखा हैएनेताजी ने कैसे पार्टी खड़ी की यह भी सब आप लोग जानते हैंएहमारे सामने जितने लोग खड़े हैंएउन सभी लोगों ने समाजवादी पार्टी के लिए कुछ ना कुछ काम जरूर कियाए यहां जो लोग बैठे हुए सभी ने समाजवादी पार्टी को खड़ा करने में अपना अमूल्य योगदान दिया है।

उन्होंने कहा कि हमने बहुत लडाइयां लड़ी हैं। कई बार जेल भी जाने का मौका मिला हैए ऐसे.ऐसे दलों से भी हमने मुकाबला किया हैए जो हमारी जान भी लेना चाहते थे लेकिन हमारे सामने बैठे हमारे साथी और समर्थकों के बलबूते पर हमारे विरोधी किसी भी शक्लो.सूरत में कामयाब नहीं हो पाए।

रिपोर्ट – सुशील कुमार

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here