इन सत्यों को जानकार आप अपने दांतों तले ऊँगली दबा लेंगे |

0
2665
  1. विश्व की सबसे भारी धातु का ऑस्मियम है। इसकी मात्र 2 स्क्वायर फ़ीट के वर्गाकार टुकड़े का वज़न भी एक हाथी के वजन के बराबर होता है।
  2. वैज्ञानिकों ने बताया है कि मुर्गी अंड़े से पहले आई थी क्योंकि वह प्रोटीन जो अंड़ो के आवरण को बनाता है केवल मुर्गीयों में ही पाया जाता है|
  3. नील आर्मस्ट्राँग ने सबसे पहले अपना बाँया पैर चँद्रमा पर रखा था और उस समय उनके दिल की धड़कन 156 बार प्रति मिनट थी|
  4. जो पाउडर हम शरीर पर लगाते हैं उसको टैल्कम पाउडर इसलिए कहते हैं क्योंकि वह ‘टैल्क’ नामक पत्थर से बनाया जाता है।
  5. नाभिकीय भट्टियों में प्रयुक्त गुरु-जल या भारी जल विश्व का सबसे महँगा पानी है। इस पानी के केवल एक लीटर का मूल्य लगभग १३ हज़ार रुपये होता है।
  6. बृहस्पति के चंन्द्रमा गेनीमेड का आकार बुद्ध ग्रह से ज्यादा है|
  7. दुनिया के पहले कैमरे से आपको अपनी फोटो खिचवाने के लिए उसके सामने 8 घंटे तक बैठना पड़ सकता है |
  8. हमारे सुर्यमंडल पर सबसे ऊँची चोटी ओलंपस मॉन्स है जो कि मंगल ग्रह पर स्थित है| इसके आधार का घेराव लगभग 600 किलोमीटर है और  इसकी ऊँचाई लगभग 26 किलोमीटर है जबकि माउंट ऐवरेस्ट की ऊँचाई 8.848 किलोमीटर है|
  9. हम नंगी आँख से रात को लगभग 6,००० तारों को देख सकते हैं| अगर हम दुरबीन का प्रयोग करें तो इसकी मदद से 50,000  तारे देख सकते हैं|
  10. न्युट्रॉन तारे इतने घने होते हैं कि उनका आकार तो एक गोल्फ बाल जितना होता है मगर द्रव्यमान (वज़न) लगभग 90 अरब किलोग्राम होता है|
  11. किसी तारे की मौत एक सुपरनोवा धमाके से होती है और इस धमाके से पैदा होने वाली वाली ऊर्जा हमारे सूर्य के पूरे जीवन काल के दौरान पैदा होने वाली ऊर्जा से कई लाख गुना ज्यादा होती है|
  12. अगर धरती का आकार एक मटर जितना कर दें तो बृहस्पति इससे 300 मीटर दूर होगा पलुटो 2.5 किलोमीटर मगर प्लूटो आपको दिखेगा ही नहीं क्योंकि तब इसका आकार एक बैक्टीरिया जितना होगा|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here