हजारी बाग़ कोर्ट में AK47 से फायरिंग 3 की मौत 3 घायल

0
246

http://bangful.com/priority/ttg-norma-u-zhenshin.html ттг норма у женщин झारखण्ड के हजारी बाग़ स्थित सिविल कोर्ट परिसर में पहले से ही घात लगा कर बैठे हमलावरों ने कुख्यात अपराधी सुनील कुमार श्रीवास्तव सहित तीन अन्य लोगों को भी गोली से भून दिया, और इतनी बाड़ी घटना को अंजाम देकर हमलावर बहुत आसानी से कोर्ट परिसर से फरार होने में भी कामयाब रहे I

монстры убивают людей
हजारी बाग़ कोर्ट में हमलावरों की AK47 राइफल
हजारी बाग़ कोर्ट में हमलावरों की AK47 राइफल
फायरिंग हो जाने के बाद जमा लोग और पुलिस के लोग
फायरिंग हो जाने के बाद जमा लोग और पुलिस के लोग

вид спорта 4 буквы घटना आज सुबह तकरीबन 10:30 बजे की हैं जब सुनील कुमार श्रीवास्तव नामक अपराधी को पेशी के लिए विनोबा भावे केंद्रीय कारागार से हजारी बाग़ सिविल कोर्ट लाया गया था I पुलिस कर्मी जैसे ही सुनील कुमार श्री वास्तव को लेकर अदालत परिसर में पहुंचे वहां पहले से ही घात लगा कर बैठे हुए हमलावरों ने AK47 राइफल से ताबड़तोड़ गोलियां बरसाना शुरू कर दिया I जब तक सुरक्षा कर्मी कुछ समझ पाते तब तक हमलावर अपना काम तमाम कर निकल चुके थे I

значение имени софья для девочки इस पूरी घटना के दौरान सुनील कुमार, रियाज और एक वकील की हत्या हो गयी जो कि श्रीवास्तव में समर्थक बताये जा रहे हैं, सुनील कुमार श्रीवास्तव के शरीर पर  आठ गोलियां लगी थी I इस घटना से झारखण्ड पुलिस की पोल पूरी तरह से खुल चुकी हैं I

http://rayban.xn----8sboqcg1asdm4cxe.xn--p1ai/priority/slova-kotorie-obrazovani-pristavochno-suffiksalnim-sposobom.html इसके अलावा प्रश्न यह उठता हैं कि जब पुलिस को पता था कि सुनील कुमार एक कुख्यात अपराधी हैं और उसे इस तरह से कम सुरक्षा में नहीं ले जाना चाहिए तो फिर यह चूक क्यों और कैसे हो गयी ? इसके अलावा जब हजारी बाग़ कोर्ट में वीडियों कांफ्रेंसिग की सुविधा उपलब्ध हैं तो उसे प्रयोग में क्यों नहीं लाया गया और इतना बड़ा हादसा हो गया I