नेशनल डीवॉर्मिंग पहल से 27 करोड़ से ज्‍यादा बच्‍चों को लाभ मिलेगा |

0
287

The Union Minister for Health & Family Welfare, Shri J.P. Nadda releasing the coffee table book on the launch of National Deworming Day, at Hyderabad on February 09, 2016. 	The Health, Medical and Family Welfare Minister, Telangana, Dr. Charlakola Laxma Reddy, the Transport Minister, Telangana, Shri P. Mahender Reddy, the Bhongir MP, Dr. Narsaiah Boora and other dignitaries are also seen.

केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्री श्री जे.पी. नड्डा ने आज हैदराबाद में आयोजित एक कार्यक्रम कें नेशनल डीवॉर्मिंग डे का शुभारंभ किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में उन्‍होंने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि कोई भी बच्‍चा ऐसे कारण से पीडित न हो, जिसे रोका जा सकता है।

केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि‍भारत उपेक्षित उष्‍णकटिबंधीय बीमारी के खिलाफ लड़ाई में अग्रणी स्‍थान प्राप्‍त करेगा। उन्‍होंने जानकारी दी कि मंत्रालय ने 2015 में प्रथम नेशनल डीवॉर्मिग डे का उद्घाटन किया था जिसे 11 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेश में और 1 से 19 वर्ष आयु के बच्‍चों का लक्ष्‍य निर्धारित करते हुए सरकारी सहायता प्राप्‍त विद्यालयों और आंगनवाड़ी केन्‍द्रों में कार्यान्‍वित किया गया था। डीवॉर्मिग पहल 277 जिलों में कार्यान्‍वित की गई और 2015 एनडीडी के लिए 9.49 लाख फ्रंटलाइन श्रमिकों को प्रशिक्षित किया गया। मंत्री महोदय ने कहा कि 85 प्रतिशत के क्षेत्र को शामिल करते हुए 4.70 लाख विद्यालयों और 3.67 लाख आंगनवाड़ी केन्‍द्रों के माध्‍यम से 1 से 19 वर्ष आयु समूह के बीच के 10.31 करोड़ बच्‍चों के एक लक्ष्‍य के मुकाबले कुल 8.98 करोड़ बच्‍चे डीवॉर्मिग गोलियां ले चुके हैं। श्री नड्डा ने कहा कि भारत अब देश के 536 जिलों में 27 करोड़ बच्‍चों के व्‍यापक लक्ष्‍य के उद्देश्‍य से संपूर्ण देश को इस अभियान में शामिल करने के लिए नेशनल डीवॉर्मिग डे 2016 का शुभारंभ कर रहा है।

श्री नड्डा ने यह भी कहा कि स्‍वास्‍थ्य मंत्रालय के अलावा इस अभियान को प्रभावी रूप से सफल बनाने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत विद्यालय शिक्षा और साक्षरता विभाग, महिला और बाल विकास मंत्रालय, पंचायती राज मंत्रालय, पेयजल और स्‍वच्‍छता मंत्रालय सहयोग से कार्यान्‍वित कर रहे हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY