श्री पीयूष गोयल ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत सराहनीय कार्य के लिए सीपीएसयू के अधिकारियों को सम्मानित किया |

0
298

The Minister of State (Independent Charge) for Power, Coal and New and Renewable Energy, Shri Piyush Goyal presenting an award at the felicitation ceremony of the Swachh Bharat Abhiyan 2015, in New Delhi on November 02, 2015. 	The Secretary, Ministry of Power, Shri P.K. Pujari and the Secretary, Ministry of New and Renewable Energy (MNRE), Shri Upendra Tripathi, are also seen.

ऊर्जा, कोयला और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री पीयूष गोयल ने अपने मंत्रालय के अधीन केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्रों के उपक्रमों (सीपीएसयू) के अधिकारियों को स्वच्छ भारत अभियान के तहत दी गई समयसीमा के भीतर देश भर के स्कूलों में शौचालयों के निर्माण के उनके सराहनीय कार्य के लिए कल शाम सम्मानित किया। निर्धारित समयसीमा में इन अधिकारियों का प्रदर्शन लगभग 28% बेहतर रहा। संबंधित सीपीएसयू और मंत्रालयों के अधिकारियों को पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर श्री गोयल ने सीपीएसयू की स्वच्छ विद्यालय फिल्मों का अनावरण भी किया।

इस अवसर पर श्री गोयल ने माननीय प्रधानमंत्री की परिकल्पना के प्रति अपने विनम्र योगदान के लिए सभी अधिकारियों को बधाई दी। उन्होंने आशा व्यक्त की कि हम सभी द्वारा शुरू किया गया यह प्रयास एक बड़ी यात्रा की शुरुआत है। श्री गोयल ने आगे कहा कि इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाया जाएगा और बदलाव लाने के लिए सामूहिक कार्य किया जाएगा। श्री गोयल ने कहा कि शौचालयों के निर्माण के इस बड़े लक्ष्य के निष्पादन में अति सतर्कता बरतने के बावजूद इसने कोयला कंपनियों की उत्पादकता को प्रभावित नहीं किया।

मंत्रालय एक वर्ष के भीतर सरकारी स्कूलों में कुल एक लाख शौचालयों का निर्माण करने के लिए प्रतिबद्ध था। यह देशव्यापी कार्यक्रम दो अक्टूबर, 2015 को शुरू किया गया था। इसमें एनटीपीसी, आरईसी, पीजीसीआईएल, पीएफसी, एनएचपीसी, एसजेवीएनएल, टीएचडीसी, एनईआईपीसीओ, कोल इंडिया, एनएलसी और आईआरईडीए जैसे सीपीएसयू शामिल हैं। इस कार्यक्रम पर मंत्रालय में दैनिक आधार पर उच्चतम स्तर पर नजर रखी जा रही थी। एक विशेष रूप से तैयार किए गए वेब पोर्टल पर जानकारी अपलोड करने के लिए नवीनतम तकनीक का उपयोग किया गया।

15 अगस्त 2015 को अपने भाषण में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के तहत देश भर में एक साल के भीतर सभी स्कूलों में लड़कियों और लड़कों के लिए अलग-अलग शौचालय बनाने की प्रतिबद्धता जताई थी। अभियान में शामिल सीपीएसयू द्वारा उठाए गए कदम उसी प्रतिबद्धता का विस्तार हैं। मंत्रालय और पीएसयू के अधिकारियों द्वारा मिलकर किए गए निरंतर और अथक प्रयासों से एक साल की अल्पावधि में देशभर के स्कूलों में 1.28 लाख शौचालयों का निर्माण कार्य समय से सफलतापूर्वक संपन्न हो चुका है। यह श्री पीयूष गोयल द्वारा जताई गई एक लाख शौचालयों के निर्माण की प्रतिबद्धता को पार कर गया है।

‘स्वच्छ भारत अभियान’ के तहत स्कूलों में निर्मित शौचालयों का कंपनीवार ब्योरा इस प्रकार है –

 

क्रम संख्या पीएसयू मंत्रालय कुल बनाए गए शौचालय  राज्य
1 एनटीपीसी ऊर्जा मंत्रालय 29,441  
2 आरईसी ऊर्जा मंत्रालय 12,379 उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, तेलंगाना, पंजाब, राजस्थान
3 सीसीएल कोयला मंत्रालय 11,850  
4 एसईसीएल कोयला मंत्रालय 11,570  
5 एमसीएल कोयला मंत्रालय 10,404  
6 पीजीसीआईएल ऊर्जा मंत्रालय 9,983 उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, असम
7 पीएफसी ऊर्जा मंत्रालय 9,383 आंध्र प्रदेश, राजस्थान
8 एनएचपीसी ऊर्जा मंत्रालय 7,547 असम, पश्चिम बंगाल, जम्मू-कश्मीर
9 बीसीसीएल कोयला मंत्रालय 5,785
10 एनसीएल कोयला मंत्रालय 5,635  
11 डब्ल्यूसीएल कोयला मंत्रालय 5,393  
12 ईसीएल कोयला मंत्रालय 3,375  
13 एलजेएवी ऊर्जा मंत्रालय 2,387 हिमाचल प्रदेश, बिहार, उत्तराखंड और अरुणाचल प्रदेश
14 एनएलसी कोयला मंत्रालय 1,274  
15 टीएचडीसीआईएल ऊर्जा मंत्रालय 1,168 उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश
16 एनईईपीसीओ ऊर्जा मंत्रालय 664
17 आईआरईडीए नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा 347 राजस्थान, छत्तीसगढ़, हरियाणा
कुल 128,585  

Source – PIB

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

four × four =