योगी के फरमान के बाद भी नहीं बदल रहे हालात

0
65


सुल्तानपुर (ब्यूरो) : लम्भुआ तहसील मुख्यालय पर साफ – सफाई व्यवस्था की पोल खुल गयी मामूली बरसात में कस्बे के दो प्रमुख लिंक मार्गों की दशा ऐसी नहीं रही कि पैदल यात्री उस पर चल सके। पूरे मार्ग पर गंदा पानी भरा होने से हालात काफी बदतर हो गये हैं। जिसका खामियाजा नागरीको व व्यापारीयों को उठाना पड़ रहा है। वही पर सफाई महकमा बेखबर है।

कस्बे की सफाई व्यवस्था इतनी जादा लचर है संम्बंधित विभाग के कर्मचारी को इसकी जैसे फिक्र ही नही है। करोड़ो की लागत से कस्बे की दोनो तरफ इन्टरलाकिंग कर नाली भी बनी परन्तु नालियां चोंक होने के कारण पानी का बहाव नही हो पाता है जिस कारण से जरा सी बरसात में सड़क पर गंदा पानी जमा हो जाता है। बरसात के अलावा कई घरों का गंदा पानी इस सड़क पर बहता रहता है। सड़क के किनारे नाली बनी हुई है। पर , पानी निकासी के ठीक इंतजाम नहीं होने से सड़क पर जलभराव बना रहता है। सर्वोदय मार्ग भी मुख्य मार्ग से होकर जाता है। कस्बे के सबसे ज्यादा छात्र संख्या वाले इस विद्यालय में जाने का यही एक मात्र रास्ता है। इसके अलावा मार्ग के दोनों तरफ मौजूद आबादी भी जलभराव के संकट से जूझ रही है। इस रास्ते कस्बे के पठखौली मार्ग के अलावा नई बस्ती की तरफ भी जाया जाता है। गुरुवार को हुई मामूली सी बरसात में भी कस्बे के दोनों मार्ग पूरी तरह जलमग्न हो गये। शुक्रवार को भी यही स्थिति बनी रही।

कैसे सफल होगा पीएम का स्वच्छ भारत का सपना
सरकार बदलने के साथ प्रदेश नये निजाम सत्ता की बागड़ोर सम्भालनें के साथ ही देश के प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत के सपने को साकार करने के लिऐ कदम भी आगे बढाया। लेकिन सरकार के फैसले को मातहत अमलीजामा पहना पा रहे है ऐसा दिखता नजर नही आ रहा है। जिससे स्वच्छ भारत का सपना साकार होता नही दिख रहा है

रिपोर्ट – संतोष यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY