एसीजेएम षष्ठम की अदालत ने मां व पुत्र-पुत्री को दोषी करार दिया

0
112

court
सुलतानपुर : रास्ते के विवाद को लेकर मां-बेटी पर हमले के मामले में एसीजेएम षष्ठम की अदालत ने मां व पुत्र-पुत्री को दोषी करार दिया है। न्यायाधीश अनिल कुमार सेठ ने तीनों को तीन-तीन वर्ष के कारागार व अर्थदण्ड की सजा सुनाई है।

मामला गौरीगंज थानाक्षेत्र के इटौजा गांव का है। जहां की रहने वाली शिवकला ने 19 मई 2005 की घटना बताते हुए अदालत में मुकदमा दायर किया। आरोप के मुताबिक घटना के दिन उसकी बेटी कमलेश कुमारी के विवाह की रस्म अदा की जा रही थी। इसी दौरान रास्ते के विवाद को लेकर बद्री विशाल की पत्नी विमला उसकी पुत्री कुसुमा व बेटे राकेश कुमार ने आकर वादिनी व उसकी पुत्री कमला को लाठी-डण्डों से घर में घुसकर मारापीटा। इसी मामले में विचारण की प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात न्यायाधीश अनिल कुमार सेठ ने तीनों आरोपियों को दोषी करार देते हुए तीन-तीन साल की सजा व पांच-पांच सौ रूपये अर्थदण्ड की सजा सुनाई है।

रिपोर्ट – दीपक मिश्र

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY